Wednesday , 28 October 2020

तकरार में चीनी मीडिया का पलटवार- अमेरिका का कौन-सा कॉन्सुलेट पहले बंद करें?


नई दिल्ली (New Delhi) . चीन और अमेरिका के बीच खींचतान चरम पर पहुंच गई है. बढ़ती तकरार के बीच चीन ने दावा किया है कि अमेरिका ने ह्यूस्टन में चीनी कॉन्सुलेट को बंद करने का आदेश दिया है. जिसके बाद चीन की ओर से कड़ी टिप्पणी की गई है. इस फैसले के तुरंत बाद अब चीन की मीडिया (Media) भी अमेरिका पर आक्रामक हो गई है.

चीनी मीडिया (Media) ने बुधवार (Wednesday) को अपने ट्विटर पर एक पोल चलाया, जिसमें लोगों से पूछा कि चीन में मौजूद अमेरिका के किस कॉन्सुलेट को सबसे पहले बंद किया जाए. सरकारी अखबार ने ट्वीट में लिखा कि चीनी विदेश मंत्रालय ने अमेरिका द्वारा ह्यूस्टन में चीनी कॉन्सुलेट को बंद करने की निंदा की है. विदेश मंत्रालय ने अमेरिका से अपनी गलती सुधारने को कहा है, वरना चीन भी कड़ा एक्शन लेने के लिए तैयार है. इसी के साथ पोल में सवाल पूछा गया कि चीन में अमेरिका का कौन-सा कॉन्सुलेट जनरल बंद होना चाहिए? इसमें चार ऑप्शन दिए गए हैं. हॉगकॉग-मकाउ, ग्वाग्झूं, चेंग्दू या कोई और.. पोल को 48 घंटे के लिए चालू किया गया है, ताकि लोग अधिक वोट दे सकें.

ज्ञात हो कि अमेरिका ने जब चीन को ह्यूस्टन का कॉन्सुलेट जनरल बंद करने का आदेश दिया, तो तुरंत अमेरिकी पुलिस (Police) वहां पर पहुंच गई. इस दौरान कुछ वीडियो सामने आए, जहां कॉन्सुलेट के अंदर कागज जलाए जा रहे हैं. हालांकि, पुलिस (Police) अंदर नहीं घुस पाई क्योंकि उसके लिए परमिशन चाहिए होती है. साफ है कि दोनों देशों के बीच पहले ही कोल्ड वॉर चल रही थी, फिर ट्रेड वॉर चली और अब कोरोना संकट के बाद एक बार फिर तल्खी को बढ़ा दिया है. हाल ही में साउथ चाइना सी में भी दोनों देश आमने-सामने आए हैं.

Please share this news