अमेरिका ने दी एच-1बी वीजाधारक चिकित्सकों को टेलीमेडिसिन से सलाह देने की इजाजत


वाशिंगटन . अमेरिका ने कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) के कारण स्वास्थ्य पेशेवरों की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए एच-1बी कार्य वीजाधारक चिकित्सकों को टेली मेडिसिन से सलाह देने और स्थानीय अस्पतालों में मदद करने की इजाजत दी है. अमेरिका में कोविड-19 (Kovid-19) संक्रमण के करीब 14.5 लाख मामलों की पुष्टि हो चुकी है और 86,000 से अधिक लोगों की मौत हुई हैं. अमेरिकी नागरिकता एवं अप्रवासन सेवा (यूएससीआईएस) ने कोविड-19 (Kovid-19) महामारी (Epidemic) के दौरान चिकित्सा सेवाओं की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए टेलीमेडिसिन से सलाह देने और स्थानीन अस्पतालों में मदद करने के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए हैं.

  गुजरात में कोरोना मरीजों के रिकवरी रेट 48.13 प्रतिशत होने का दावा

एच-1बी वीजा एक गैर-आप्रवासी वीजा है, जो अमेरिकी कंपनियों को कुछ खास व्यवसायों में, जहां सैद्धांतिक या तकनीकी विशेषज्ञता की आवश्यकता होती है, स्नातक स्तर के श्रमिकों को नियुक्त करने की अनुमति देता है. इससे पहले कुछ विधि विशेषज्ञों ने कहा था कि एच-1बी वीजाधारक चिकित्सों को कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) के दौरान सहायता की अनुमति देनी चाहिए, जिसके बाद नए दिशानिर्देश आए हैं. खासतौर से ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधाएं बहुत हद तक एच-1बी वीजा कार्यक्रमों पर निर्भर हैं.

Please share this news