कोरोना संकट टलने तक कलेक्टर-एसपी के नहीं होंगे थोकबंद तबादले, मंत्रालय और पीएचक्यू में आला अफसरों की होगी बदली


भोपाल (Bhopal) . प्रदेश में सत्ता की कमान संभालते ही मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने मुख्य सचिव को बदल दिया है. साथ ही पुलिस (Police) के आला अधिकारियों के तबादले किए हैं. हालांकि मंत्रालय एवं मुख्यालय मेंं वरिष्ठ अफसरों के तबादला आदेश जल्द जारी हो सकते हैं. पीएचक्यू में भी पुलिस (Police) के वरिष्ठ अफसरों को बदले जाने की संभावना है. कोरोना संकट के चलते राज्य सरकार (Government) कलेक्टर, एसपी एवं अन्य मैदानी अधिकारियों का फिलहाल तबादला नहीं करेगी. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने सभी अफसरों को हालात से निपटने के लिए निर्देश जारी किए हैं. साथ ही अपने स्तर पर जरूरी फैसले लेने के लिए फ्रीहैंड दिया है.

प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के साथ ही बड़े प्रशासनिक फेरबदल की संभावना जताई जा रही है, लेकिन अभी तक मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री (Chief Minister) कार्यालय समेत राजनीतिक कारणों से भी गिने-चुने अफसरों के ही तबादले आदेश जारी किए हैं. साथ ही मैदानी अफसरों के तबादलों के लिए वे खुद तैयार नहीं है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) कोरोना (Corona virus) से निपटने की तैयारियों को लेकर रोज कलेक्टर, एसपी, आईजी एवं संभागायुक्तों से वीडियो कॉफ्रेंसिंग से चर्चा कर रहे हैं. मंत्रालयीन सूत्रों ने बताया कि सत्ता परिवर्तन के बाद से ही मैदानी अफसरों के बीच तबादले की अटकलें शुरू हो गई थीं, लेकिन मंत्रालय ने अफसरों को मैदान में डटकर स्थिति से सामना करने को कहा है. मंत्रालय के आला अधिकारी ने बताया कि फिलहाल सरकार (Government) का फोकस अफसरों के तबादले पर नहीं है. जरूरी होने पर ही किसी जिले के एसपी व कलेक्टर (Collector) को हटाया जाएगा.

  प्रवासी मजदूरों की हालत पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों को नोटिस जारी किया

जल्द बदले जाएंगे प्रमुख सचिव

प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार मंत्रालय में जल्द ही प्रमुख सचिव, सचिव एवं विभागाध्यक्षों को बदले जाने की संभावना है. खबर है कि मुख्य सचिव ने अफसरों को सूची मुख्यमंत्री (Chief Minister) को पहले ही भेज दी थी. जिस पर मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने होमवर्क पूरा कर लिया है. संभावना है कि एक हफ्ते के भीतर आला अफसरों की तबादला सूची जारी हो सकती है. वहीं इधर पुलिस (Police) मुख्यालय में भी प्रमुख अफसरों को बदला जा सकता है. पीएचक्यू में एक बार फिर एडीजी प्रशासन को बदले जाने की संभावना है. पिछले सवा साल में एडीजी प्रशासन को पांच बार बदला जा चुका है.

  सितंबर में पेश होगा नया मोटो फ्लिप, कीमत भी मौजूदा मॉडल से हो सकती है कम

कमलनाथ के करीबी अफसरों को हटाया

शिवराज सिंह चौहान ने सत्ता संभालते ही पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) कमलनाथ के करीबी अफसरों को प्रमुख जिम्मेदारी से हटा दिया है. उन्होंने खुद के पसंदीदा अफसरों को यह जिम्मेदारी दी है. अतिरिक्त पुलिस (Police) महानिदेशक आदर्श कटियार को भोपाल (Bhopal) रेंज की जिम्मेदारी से मुक्त करते हुए इंटेलीजेंस (गुप्तवार्ता) की कमान सौंपी गई है.क कटियार शिवराज सरकार (Government) में ईओडब्ल्यू से लेकर ग्वालियर, भोपाल (Bhopal) के आईजी रहे हैं. साथ ही वे सीएमओ में भी ओएसडी रहे. भोपाल (Bhopal) रेंज में अतिरिक्त पुलिस (Police) महानिदेशक उपेंद्र जैन को पदस्थ किया गया है. कमलनाथ सरकार (Government) में विशेष कत्र्तव्यस्थ अधिकारी रहीं अतिरिक्त पुलिस (Police) महानिदेशक प्रज्ञा ऋचा श्रीवास्तव को हटाकर पुलिस (Police) महानिरीक्षक मकरंद देऊस्कर सीएमओ में ओएसडी बनाया है.

  चिंतन-मनन / धर्म का आदर

अतिरिक्त पुलिस (Police) महानिदेशक राजीव टंडन को राज्य आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (ईओडब्ल्यू) का प्रभारी महानिदेशक बनाया गया है. कमल नाथ सरकार (Government) में गुप्तवार्ता शाखा का जिम्मा संभाल रहे अतिरिक्त पुलिस (Police) महानिदेशक डॉ. एसडब्ल्यू नकवी को पुलिस (Police) मुख्यालय में पदस्थ किया गया है. सुशोभन बनर्जी को ईओडब्ल्यू से हटाकर अतिरिक्त पुलिस (Police) महानिदेशक जेएनपीए सागर बनाया है. अतिरिक्त पुलिस (Police) महानिदेशक डीसी सागर के तबादला आदेश को संशोधित करके हुए उनकी पदस्थापना आपदा प्रबंधन एवं होमगार्ड में यथावत रखी गई हैं.

Please share this news