शाहीनबाग में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ केस दर्ज, 10 लोग गिरफ्तार


नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship amendment law) (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (National citizenship register) (एनआरसी) के खिलाफ जारी धरना प्रदर्शन को हटा दिया है. शाहीनबाग में भारी पुलिस (Police) फोर्स की तैनाती के बीच प्रदर्शनकारियों (Protesters) के टेंट उखाड़े गए. इसके साथ ही नोएडा (Noida) -कालिंदी कुंज सड़क को भी खाली करा लिया गया. वहीं, शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों (Protesters) के खिलाफ मंगलवार (Tuesday) देर शाम एफआईआर (First Information Report) भी दर्ज की है और 10 लोगों को गिरफ्तार किया है.

  महात्मा गांधी नरेगा योजना : गुरुवार को रिकार्ड 2 लाख 14 हजार श्रमिकों की उपस्थिति दर्ज

प्रदर्शनकारियों (Protesters) से अपील की गई थी कि वे लॉकडाउन (Lockdown) की स्थिति को देखते हुए प्रदर्शनस्थल से हट जाएं. महामारी (Epidemic) कोरोना (Corona virus) का कहर देश में जारी, लेकिन इसके बावजूद भी वे वहां से नहीं हटे. पुलिस (Police) ने 4 पुरुष और 6 महिलाओं समेत 10 लोगों को गिरफ्तार किया दिल्ली पुलिस (Police) ने कोरोना (Corona virus) और धारा-144 की दलील देते हुए एक घंटे में कार्रवाई की. पुलिस (Police) का कहना है कि हम शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शनस्थल को खाली कराना चाहते थे. हालांकि, प्रदर्शनकारियों (Protesters) का आरोप है कि हम खुद पीछे हट गए थे, लेकिन पुलिस (Police) ने धरना स्थल में बने भारत माता के नक्शे और इंडिया गेट को क्यों हटाया. लोगों ने पुलिस (Police) के खिलाफ नारेबाजी भी की है. माहौल अभी तनावपूर्ण नहीं है.

Please share this news