सीमित ओवरों में रैना का अहम योगदान रहा :द्रविड़


शीर्ष क्रम पर अवसर मिलता तो और भी सफल रहते

नई दिल्ली (New Delhi) . टीम इंडिया के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने बल्लेबाज सुरेश रैना की जमकर तारीफ करते हुए कहा है कि अगर उन्हें शीर्ष क्रम पर बल्लेबाजी का अवसर मिलता तो उन्होंने और अधिक रन बनाए होते. द्रविड़ ने कहा कि सीमित ओवरों के क्रिकेट में रैना का अहम योगदान रहा है. द्रविड़ ने ही रैना को एकदिवसीय और टेस्ट में ‘कैप’ प्रदान की थी. द्रविड़ ने कहा, ‘सीमित ओवरों के क्रिकेट में पिछले डेढ दशक में भारतीय टीम को जो सफलता, शानदार पल मिले उसमें रैना की अहम भूमिका रही है..’

द्रविड़ ने कहा, ‘वह विश्व कप विजेता और चैंपियंस ट्रोफी विजेता हैं. उन्होंने मैदान पर काफी योगदान दिया. जिस तरह उसने क्षेत्ररक्षण के स्तर को ऊंचा किया इसमें उसकी ऊर्जा, उसका उत्साह था.’ रैना ने 13 साल के करियर में 18 टेस्ट, 226 एकदिवसीय और 78 टी20 अंतरराष्ट्रीय में भारत के लिए 8000 से अधिक रन बनाए है. द्रविड़ ने कहा, ‘एक बात जो हमने हमेशा महसूस की, वह यह कि इस बल्लेबाज ने हर मुश्किल काम किया.’ द्रविड़ ने कहा, ‘अपने करियर के अधिकांश समय में उन्होंने निचले क्रम पर बल्लेबाजी की, मुश्किल स्थानों पर क्षेत्ररक्षण किया, कुछ अच्छे ओवर फेंके और हमेशा टीम को बहुत कुछ दिया.

एक शानदार ‘टीम मैन’, जिसने हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ दिया. वह खेल में बहुत ऊर्जा लेकर आए और बहुत कुशल बल्लेबाज थे.’ द्रविड़ ने कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो अगर उनका बल्लेबाजी क्रम ऊपर होता तो उनके आंकड़े कहीं अधिक बेहतर होते, जैसे कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल (Indian Premier League)) में चेन्नै सुपर किंग्स के लिए तीसरे क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए उन्हें सफलता मिली है. आईपीएल (Indian Premier League) के लिए वह एक अभूतपूर्व खिलाड़ी हैं.’

द्रविड़ ने कहा, ‘मुझे लगता है कि टेस्ट पदार्पण पर शतक लगाने के बाद वह इस प्रारूप में अपना बेहतर प्रदर्शन जारी नहीं रख पाए पर एकदिवसीय क्रिकेट में उनका योगदान शानदार है. वह उस भारतीय टीम का हिस्सा रहे है जिसने पिछले ड़ेढ़ दशक में काफी सफलताएं हासिल की है.’

Please share this news