Friday , 25 September 2020

काेर्ट की अवमानना झेल रहे प्रशांत भूषण ने इस कानून को ही सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती

नई दिल्ली (New Delhi). सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के जजों पर उंगली उठाने के मामले में अदालत की अवमानना झेल रहे वकील प्रशांत भूषण ने अब एक नई बहस को जन्म दिया है. उन्होंने पत्रकार एन राम व पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी के साथ मिलकर अदालत की अवमानना कानून को चुनौती दी है. याचिकाकर्ताओं का कहना है कि यह कानून उनके अभिव्यक्ति के अधिकार का हनन करता है. सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने हाल ही में सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के चीफ जस्टिसों को लेकर किए गए विवादित ट्वीट के संदर्भ में वकील प्रशांत भूषण को कोर्ट की अवमानना कानून की इसी धारा के तहत नोटिस जारी किया है. राम, शौरी और भूषण ने सम्मिलित रूप से एक याचिका वकील कामिनी जायसवाल के माध्यम से दायर कर कानून के सेक्शन 2 (सी)(आई) की संवैधानिक वैधता का चुनौती दी है.

Please share this news