पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपये देगी रिलायंस इंडस्ट्रीज


महाराष्ट्र (Maharashtra) और गुजरात के मुख्यमंत्री (Chief Minister) राहत कोष में 5-5 करोड़ रुपये का योगदान देगी

नई दिल्ली (New Delhi) . निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लि. (आरआईएल) कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) के खिलाफ जारी अभियान के लिए पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपये का योगदान देगी. इसके अलावा कंपनी महाराष्ट्र (Maharashtra) और गुजरात में मुख्यमंत्री (Chief Minister) राहत कोष में भी 5-5 करोड़ रुपये का योगदान देगी.

साथ ही कंपनी गैर-सरकारी संगठनों के जरिये पांच लाख लोगों को 10 दिन तक मुफ्त खाना भी खिलाएगी. रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा हमें विश्वास है कि भारत कोरोनो वायरस की आपदा पर जल्द से जल्द विजय हासिल कर लेगा. रिलायंस इंडस्ट्रीज की पूरी टीम संकट की इस घड़ी में देश के साथ है और कोविड-19 (Kovid-19) के खिलाफ इस लड़ाई को जीतने के लिए सब कुछ करेगी.

  बांग्लादेश में जहरीली शराब पीने से 16 की मौत

इससे पहले कंपनी की इकाई रिलायंस फाउंडेशन ने मुंबई (Mumbai) में कोरोना (Corona virus) मरीजों के लिये 100 बिस्तरों का अस्पताल केवल 2 सप्ताह में तैयार करने की घोषणा की थी. वह एक लाख मास्क और व्यक्ति सुरक्षा से जुड़े उपकरणों का भी विनिर्माण भी कर रही है. कंपनी आपात सेवा में लगी वाहनों को मुफ्त ईंधन और दोगुना (guna) डेटा पहले से ही उपलब्ध करा रही है. रिलायंस फाउंडेशन की संस्थापक चेयरपर्सन नीता अंबानी ने कहा रिलायंस फाउंडेशन इस संकट की घड़ी में अपने देशवासियों और महिलाओं के साथ मजबूती से खड़ा हैं, खासकर उन लोगों के लिए जो पहली पंक्ति में इससे लड़ रहे हैं.

  कोरोना ने दिया इकॉनामी को तगड़ा झटका, चौथी तिमाही की विकास दर 3.1 फीसदी, पूरे साल का ग्रोथ रेट 4.2 प्रतिशत

हमारे डॉक्टरों (Doctors) और कर्मचारियों ने भारत का पहला कोविड-19 (Kovid-19) अस्पताल स्थापित करने में मदद की है और हम कोविड-19 (Kovid-19) की स्क्रीनिंग, परीक्षण, रोकथाम और उपचार में सरकार (Government) का पूरी तरह से सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.रिलायंस के अलावा कारोबार जगत से टाटा, महिन्द्र और कोटक सहित कई घराने सामने आये हैं.

Please share this news