लॉटरी में धोखाधड़ी की शिकायत पर जांच की तो तार पाकिस्तान से जुड़े

नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली पुलिस (Police) ने एक महिला की मामूली धोखाधड़ी की शिकायत पर जांच शुरू की तो उसके तार पाकिस्तान से जुड़े गए. अब पुलिस (Police) इस मामले में देश विरोधी गतिविधियों के लिए धन जुटाने के दृष्टिकोण से जांच कर रही है. दिल्ली पुलिस (Police) ने यह खुलासा पटियाला हाउस स्थित अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश (judge) धर्मेंद्र राणा की अदालत के समक्ष एक रिपोर्ट पेश करते हुए किया है. दिल्ली पुलिस (Police) की स्पेशल सेल इस मामले की जांच कर रही है.

रिपोर्ट के मुताबिक, एक महिला की शिकायत पर बीते मार्च में जांच शुरू की गई थी. पुलिस (Police) ने 5 मार्च को आरोपी संतोष कुमार को गिरफ्तार किया. उससे पता चला कि इसके पीछे बड़ा गिरोह है, जो रकम दिल्ली समेत अन्य राज्यों से लॉटरी के नाम पर लोगों से ठगी जा रही थी वह सीधे पाकिस्तान में बैठे कुछ लोगों के खातों में पहुंच रही थी. इसके बाद जैसे जांच आगे बढ़ती गई सैकड़ों शिकायतकर्ता सामने आए, जिन्होंने बताया कि उनके साथ भी लॉटरी जीतने के नाम पर धोखाधड़ी हुई है

पुलिस (Police) के मुताबिक, संतोष कुमार सीधे दिल्ली के लोगों को धोखाधड़ी के जाल में फंसाता था. वहीं, उसके फोन कॉल रिकॉर्ड, बैंक (Bank) खाते के ब्योरे से कई जानकारी मिली हैं. व्हॉट्सएप पर उसकी पाकिस्तान में बैठे लोगों से बातचीत के पुख्ता साक्ष्य पुलिस (Police) को मिले हैं. उसकी व्हॉट्सएप पर बातचीत से पता चल रहा है कि वह इस गिरोह का सक्रिय सदस्य था और इसकी एक-एक गतिविधि से परिचित था.
पुलिस (Police) ने अदालत में कहा कि इस तरह धन जुटाकर देश के खिलाफ इस्तेमाल करने की बात तो समझ में आती है. मगर यह धन किस विशेष काम के लिए इस्तेमाल किया जाना था, इसकी तफ्तीश जारी है. साथ ही यह भी देखा जा रहा है कि कहीं पाकिस्तान के लिए धनशोधन मनी लांड्रिंग तो नहीं किया जा रहा था. पुलिस (Police) ने बताया कि अभी मामले में जांच जारी है. इसके बाद ही आरोपपत्र तैयार किया जाएगा. अदालत ने पुलिस (Police) की रिपोर्ट के आधार पर आरोपी को राहत देने से इनकार कर दिया. अदालत ने कहा कि पेश रिकॉर्ड बताते हैं कि आरोपी देश के बाहर बैठे एक ऐसे गिरोह के लिए काम करता था जो देश के लिए खतरनाक साबित हो सकते है.

Please share this news