मोबाइल देखकर चलने वालों के खिलाफ कानून बनने जा रहा जापान


टोकियो . जापान में मोबाइल देखकर चलने से हो रही दुर्घटनाओं से डरी सरकार (Government) इस पर कानून बनाने की तैयारी शुरू कर दी है. कानून को पहले चरण में ट्रायल के लिए मध्य जापान के यामातो शहर में लागू किया जाएगा. जापान में शहर के लिए पार्षदों को कानून बनाने का अधिकार है.

  गुजरात में लगातार दूसरे कोरोना के 800 से अधिक मामले, 441 ठीक हुए

कानून को लेकर यामातो के सिटी काउंसिल में चर्चा भी चल रही है. स्थानीय मीडिया (Media) के अनुसार, शहर प्रशासन ने यह कानून एक ताजा शोध के बाद लागू करने का फैसला किया है. इस शोध में यामातो के दो रेलवे (Railway)स्टेशनों पर 6000 लोगों का अध्ययन किया गया, जिसमें से अधिकतर पैदल चलने के दौरान मोबाइल का प्रयोग करते दिखे. शोध में दावा किया गया है कि मोबाइल देखकर चलने के कारण लोगों को चोटें भी आई हैं.

  कुलभूषण जाधव ने रिव्यू पिटीशन दाखिल करने से इनकार किया

जून के मध्य में यामातो के सिटी काउंसिल में इस बिल पर वोटिंग की संभावना है. अगर यह बिल कानून का रूप अख्तियार कर लेता है, तब यामाटो फोन को देखकर चलने पर प्रतिबंध लगाने वाला जापान का पहला शहर बन जाएगा. अगर यह प्रयोग सफल रहा,तब इस पूरे जापान में लागू करने पर भी विचार किया जा सकता है. नए कानून को 1 जुलाई से लागू किया जा सकता है.

Please share this news