सरकार से उलट एक्सपर्ट्स का दावा कोरोना का हो रहा कम्युनिटी ट्रांसमिशन


नई दिल्ली (New Delhi) . कोरोना (Corona virus) के बढ़ते मामलों के बीच कुछ स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि अब देश में कोविड-19 (Covid-19) संक्रमण का कम्युनिटी ट्रांसमिशन हो रहा है. इन स्वास्थ्य विशेषज्ञों में एम्स के डॉक्टर, आईसीएमआर रिसर्च ग्रुप के दो सदस्य आदि शामिल हैं.

देश में कोरोना मरीजों की संख्या 1,90,535 पहुंच गई, वहीं, अब तक 5394 मौतें हो चुकी हैं. इसके बावजूद सरकार (Government) लगातार कहती रही है कि अभी भारत में कोरोना (Corona virus) का कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं हो रहा है. भारत अब कोरोना (Corona virus) से प्रभावित दुनिया का सांतवां सबसे बड़ा देश बन चुका है. इंडियन पब्लिक हेल्थ एसोसिएशन इंडियन एसोसिएशन ऑफ प्रिवेंटिव एंड सोशल मेडिसिन और इंडियन एसोसिएशन ऑफ एपिडेमियोलॉजिस्ट के विशेषज्ञों द्वारा संकलित रिपोर्ट प्रधानमंत्री को सौंपी गई है. रिपोर्ट में कहा गया है कि यह उम्मीद करना ठीक नहीं है कि इस स्तर पर कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) को समाप्त किया जा सकता है क्योंकि बीमारी का कम्युनिटी ट्रांसमिशन हो रहा है.

  विराट से नहीं पाक बल्लेबाजों से करें मेरी तुलना : आजम

रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना की रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन (Lockdown) से अपेक्षित फायदा यह था कि इस बीमारी को एक समय के भीतर ज्यादा फैलने से रोका जाए, जिससे प्रभावी ढंग से योजना बनाई जाए. अब लॉकडाउन (Lockdown) के चौथे चरण के खत्म होने के बाद लगता है कि यह संभव हो गया है. 16 सदस्यीय संयुक्त कोविड-19 (Covid-19) टास्क फोर्स में के पूर्व अध्यक्ष डॉ शशि कांत, के अध्यक्ष डॉ. संजय के. राय, बीएचयू के डॉ डीसीएस रेड्डी और चंडीगढ़ (Chandigarh) स्थित पीजीआईएमईआर के डॉ. राजेश कुमार शामिल हैं. डॉ. रेड्डी और डॉ. कांत कोरोना महामारी (Epidemic) के लिए महामारी (Epidemic) विज्ञान और निगरानी पर एक आईसीएमआर के सदस्य हैं.

  यूपी में कोरोना ने ली 14 और की जान, मृतकों का आंकडा 749 हुआ

रिपोर्ट में विशेषज्ञों ने यह भी कहा कि महामारी (Epidemic) से निपटने के लिए फैसले लेते समय महामारी (Epidemic) विज्ञानियों से परामर्श नहीं किया गया. विशेषज्ञों का कहना है कि मानवीय संकट और बीमारी फैलने दोनों के मामले में भारत भारी कीमत चुका रहा है.

Please share this news