हांगकांग सुरक्षा कानून पर प्रतिबंधों के खिलाफ चीन ने अमेरिका को दी चेतावनी

बीजिंग . चीन ने अमेरिका को नए हांगकांग सुरक्षा कानून को लेकर उस पर प्रतिबंध लगाने के खिलाफ चेतावनी दी और कहा कि बीजिंग अपने आवश्यक जवाबी उपायों के साथ पूरी तरह तैयार है. वैश्विक आक्रोश और हांगकांग में नाराजगी के बीच चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने मंगलवार (Tuesday) को उस विवादित सुरक्षा कानून पर हस्ताक्षर कर दिए, जोकि हांगकांग के संबंध में बीजिंग को नई शक्तियां प्रदान करता है.

  दक्षिण कोरिया में लोगों ने वॉशिंग मशीन में धोकर ओवन में जला दिए खरबों रुपए

इस कानून के तहत चीनी सुरक्षा बलों की हांगकांग में मौजूदगी सुनिश्चित हो सकेगी. मंगलवार (Tuesday) को चीनी संसद की नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) की 162 सदस्यीय स्थाई समिति ने सर्वसम्मति से हांगकांग के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को मंजूरी दे दी. इसे मंजूरी दिए जाने के तुरंत बाद जिनपिंग ने इस कानून पर हस्ताक्षर किए जिसके साथ ही कानून लागू करने योग्य हो गया.

  24 घंटों में गुजरात में कोरोना के 1101 नए केस, 805 डिस्चार्ज, 22 की मौत

एक बयान में अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा बीजिंग के अपने नए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लेकर आगे बढने के मद्देनजर वाशिंगटन अमेरिका में निर्मित रक्षा उपकरणों को हांगकांग के लिए निर्यात करना बंद कर देगा और इसी तरह के प्रतिबंध रक्षा प्रौद्योगिकी को लेकर भी उठाएगा. इस पर सख्त प्रतिक्रिया देते हुए चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा, हांगकांग का राष्ट्रीय सुरक्षा कानून चीन का आंतरिक मामला है और किसी बाहरी देश को इसमें हस्तक्षेप को कोई अधिकार नहीं है.

Please share this news