पड़ोसी देशों के साथ आक्रामकता का प्रदर्शन कर रहा चीन

-भारत के समर्थन में खड़े हुए दर्जनभर से ज्याद अमेरिकी सांसद

वाशिंगटन . अमेरिका के एक दर्जन से अधिक सांसदों के भारत को समर्थन के बाद अब एक शीर्ष सांसद (Member of parliament) ने कहा है कि चीन की सत्तारूढ़ सीपीसी अपने पड़ोसी देशों के खिलाफ आक्रामकता का प्रदर्शन कर रही है. सीनेटर टिम कॉटन ने सीनेट में कहा कि चीन ने उसने भारत में वास्तव में घुसपैठ की और 20 भारतीय जवानों को मार दिया. कॉटन ने कहा कि चीन ने दक्षिण चीन सागर पर हमला किया है या वियतनाम, मलेशिया और फिलीपीन को डराया. उसने ताइवान और जापानी हवाई क्षेत्र में अनधिकृत प्रवेश किया है. उन्होंने कहा कि हांगकांग में हाल में लागू सुरक्षा कानून ने स्पष्ट कर दिया है कि सीपीसी अन्य देशों के प्रति अपनी प्रतिबद्धताओं का पालन नहीं करेगी.

  सीबीएसई ने जारी की 12वीं की आंसरशीट, कल खुलेगा पाेर्टल

उन्होंने चीन पर अमेरिका, विश्व व्यापार संगठन, विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) और अन्य के प्रति प्रतिबद्धताएं पूरी न करने का आरोप भी लगाया. इसके पूर्व सीनेटर मिच मैक्कोनल ने सीनेट में आरोप लगाया कि चीन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उकसाने वाले कदम उठा रहा है. सीनेटर जॉन कॉर्निन एनडीएए में एक संशोधन पेश किया था, जो पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी आक्रामकता के खिलाफ भारत का समर्थन करता है. इस बीच, भारतीय-अमेरिकी सांसद (Member of parliament) राजा कृष्णमूर्ति ने बृहस्पतिवार को एक बयान में कहा कि चीन की इस आक्रामकता के जवाब में अमेरिका को भारत समेत क्षेत्र में अपने सहयोगियों के साथ खड़े होने का संकल्प लेना चाहिए.

Please share this news