Wednesday , 28 October 2020

पश्चिम बंगाल में भाजपा नेता देबेंद्र नाथ रे की मौत की सीबीआई से जांच कराने की मांग


नई दिल्ली (New Delhi) . भाजपा ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) में भाजपा नेता देबेंद्र नाथ रे की मौत की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने की मांग की है. महासचिव कैलाश विजयवर्गीय) के नेतृत्व में भाजपा नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की और माकपा से बीजेपी में आने वाले नेता रे की मौत की जांच के लिए CBI जांच शुरू करने का आग्रह किया. ज्ञात रहे कि हेमताबाद सीट से विधायक देबेंद्र नाथ रे को सोमवार (Monday) को उत्तर दिनाजपुर जिले में उनके आवास के पास एक बाजार में लटका हुआ पाया गया था. उनके परिवार और पार्टी के कुछ अन्य नेताओं ने इसे ‘तृणमूल कांग्रेस के गुंडों द्वारा’ की गई जघन्‍य हत्‍या करार दिया था.

विजयवर्गीय ने कहा कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले हो रहे थे और उन्होंने गृह मंत्री से विधायक रे की मौत की जांच के आदेश देने का आग्रह किया है. केंद्रीय गृह मंत्री से मुलाकात के बाद विजयवर्गीय ने संवाददाताओं से कहा, “मुख्यमंत्री (Chief Minister) ममता बनर्जी बंगाल में बीजेपी के एक प्रमुख पार्टी के रूप में उभरकर आने से असहज हैं. यह मामला राज्‍य में पुलिस (Police) का अपराधीकरण और सरकारी मशीनरी का पूर्ण रूप से ध्‍वस्‍त होना दर्शाता है.”

विजयवर्गीय ने कहा कि शाह ने रे की मौत पर पश्चिम बंगाल (West Bengal) पुलिस (Police) से रिपोर्ट मांगी है. केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो भी इस प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा थे. बंगाल से सांसद (Member of parliament) सुप्रियो ने आरोप लगाया कि रे की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट “मनगढंत” है और पुलिस (Police) और राज्य के गृह सचिव इस मामले में अलग-अलग बयान दे रहे हैं. दार्जिलिंग के सांसद (Member of parliament) राजू बिस्टा और राज्यसभा सदस्य स्वपन दासगुप्ता भी प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा थे.

Please share this news