कोरोना को लेकर अफवाह फैलाने पर उदयपुर के अधिवक्ता कराएंगे मुकदमा दर्ज, ब्लैक मार्केटिंग पर नजर

उदयपुर (Udaipur). बार एसोसिएशन की कार्यकारिणी की आपात बैठक में महामारी (Epidemic) कोरोनावायरस को लेकर अफवाह फैलाने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध विभिन्न थानों में मुकदमे दर्ज कराने तथा उनकी न्यायालय में पैरवी नहीं करने का  निर्णय लिया गया है. इसके अलावा बार एसोसिएशन ने न्यायिक कामकाज का संपूर्ण बहिष्कार करने की भी घोषणा की है.
बार एसोसिएशन के महासचिव चक्रवती सिंह राव ने बताया कि बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मनीष शर्मा की अध्यक्षता में हुई आपात बैठक में बार एसोसिएशन कार्यकारिणी एवं वरिष्ठ अधिवक्ताओं ने करोना वायरस के सम्बन्ध मे कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए है, जिसमें बार कौंसिल आॅफ राजस्थान से प्राप्त पत्र के मद्देनजर कोर्ट परिसर के सभी गेट बन्द कर अनावश्यक व्यक्तियों का प्रवेश वर्जित किया जावेगा, साथ ही सभी अधिवक्ताओं द्वारा कोई कार्य नही किया जावेगा. नोटेरी व टाइपिंग का कार्य भी आगामी निर्णय तक बंद रखने  निर्णय किया गया है.

कोराना को लेकर अफवाह फैलाने पर होगा मुकदमा

बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि समाज मे कोरोना (Corona virus) के सम्बन्ध में कोई व्यक्ति सोशल मीडिया (Media) फेसबुक व्हाट्सएप ईमेल या मैसेज के जरिए अफवाह फैलायेगा या समाज मे भय का माहोल पैदा करने की कौशिश भी करेगा तो उसके खिलाफ जिले के विभिन्न थाना क्षेत्र में रहने वाले अधिवक्ताओं द्वारा थानों में  आपराधिक प्रकरण दर्ज  कराया जाएगा तथा  उनकी बार एसोसिएशन के संबंधित अधिवक्ताओं द्वारा पैरवी नहीं की जाएगी.

मास्क सैनिटाइजर (Sanitizer) खाद्य की कालाबाजारी पर रहेगी नजर

 बैठक में सर्वसम्मति से तय किया गया है कि यदि कोई व्यापारी या कोई व्यक्ति कोरोना (Corona virus) के मद्देनजर मुंह पर लगाने वाले मास्क एवं सैनिटाइजर (Sanitizer) के साथ दैनिक जीवन में उपयोग होने वाले राशन की कालाबाजारी राशन की काला बाजारी करेगा तो उसके विरूद्ध भी बार एसोसिएशन उदयपुर (Udaipur) कार्यवाही करेगी एवं ऐसे व्यक्तियों के विरूद्ध प्रकरण दर्ज होता है तो बार एसोसिएशन उदयपुर (Udaipur) से संबंधित कोई भी अधिवक्ता ऐसे दोषियों की पैरवी नही करेगे. बैठक में उपाध्यक्ष नीलांष द्विवेदी सचिव राजेश वर्मा वित्त सचिव पृथ्वीराज तेली पुस्तकालय सचिव धीरज व्यास पूर्व अध्यक्ष प्रवीण खंडेलवाल रमेश नंदवाना शांतिलाल पामेचा भरत कुमार वैष्णव सहव्रत सदस्य जयराज सिंह चौहान महेंद्र सिंह चारण, अरुण व्यास एवं हरीश पालीवाल सहित कई अधिवक्ता उपस्थित थे.
Please share this news
  राजस्थान यूनिवर्सिटी ने कुलपति के आवेदन मांगे