पाकिस्‍तान में जबरन नमाज पढ़ने पर 250 के खिलाफ मुकदमा, 7 गिरफ्तार


कराची . पाकिस्‍तान के सबसे बड़े शहर कराची में सरकारी आदेश के उल्‍लंघन और पुलिस (Police) पर हमला करने के आरोप में 250 से अधिक लोगों पर आतंकवाद अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है. इनमें से 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया है. कराची के लियाकतबाद इलाके की गौसिया मस्जिद में सरकारी आदेशों का उल्लंघन करते हुए शुक्रवार (Friday) को नमाज का आयोजन किया गया था. इसकी जानकारी होने पर इलाके की पुलिस (Police) ने मस्जिद के खतीब को गिरफ्तार करने की कोशिश की थी. हालांकि उन्होंने लोगों को पुलिस (Police) पर हमला करने के लिए उकसाया, जिसके बाद वहां के लोगों और पुलिस (Police) के बीच झड़प हुई, जिससे कई पुलिस (Police)कर्मी घायल हो गए थे.

  लॉकडाउन के दौरान मजदूरी के भुगतान से छूट मिलने की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्र से मांगा जबाव

वहीं इलाके के कुछ लोगों ने पुलिस (Police)कर्मियों को अपने घरों में शरण देकर उनको बचाया. बाद में अधिक पुलिस (Police)कर्मियों को बुलाया गया और गौसिया मस्जिद के इमाम सहित संदिग्धों को मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया गया. कराची के पुलिस (Police) प्रमुख गुलाम नबी मेमन की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि आरोपियों के खिलाफ लियाकतबाद पुलिस (Police) थाने में एक मामला दर्ज किया गया है, जिसमें मस्जिद के इमाम के अलावा मस्जिद समिति के सदस्य और अन्‍य लोगों को भी नामजद किया गया है.

  महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

वहीं एसएचओ लियाकतबाद की ओर से अदालत को बताया गया कि पुलिस (Police) पार्टी जान से मारने की नियत से लाठी और डंडों से हमला किया गया था. इसमें तीन पुलिस (Police)कर्मी घायल हो गए. गौरतलब है कि इस शुक्रवार (Friday) को पाकिस्‍तान के कराची में तीन घंटे का पूर्ण लॉकडाउन (Lockdown) लगाया गया था. कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए उलेमा की सलाह पर यह फैसला लिया गया था, लेकिन इसके बावजूद लॉकडाउन (Lockdown) का उल्‍लंघन करते हुए लोग लियाकतबाद की गौसिया मस्जिद में नमाज के लिए इकट्ठे हुए थे.

Please share this news