सीएए-एनआरसी पर हिंसा संबंधी सभी याचिकाओं पर जवाब दाखिल करे पुलिस: हाईकोर्ट


नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली हाईकोर्ट ने पिछले साल जामिया मिल्लिया इस्लामिया के बाहर सीएए और एनआरसी प्रदर्शन से जुड़ी सभी याचिकाओं पर पुलिस (Police) से जवाब मांगा है. हाईकोर्ट ने यह भी कहा कि कोई आसान रास्ता न अपनाएं. पुलिस (Police) ने कुछ याचिकाओं पर जवाब दे दिया है जबकि कुछ पर जवाब देना बाकी है. पीठ ने सभी याचिकाओं पर अगली सुनवाई 21 जुलाई के लिए तय की है.

  दिग्विजय सिंह पर बरसे योगी, कहा-कांग्रेस ने कभी नहीं चाहा राम मंदिर का शिलान्यास हो

मुख्य न्यायाधीश (judge) डीएन पटेल और न्यायमूर्ति प्रतीक जालान की पीठ ने इन याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस (Police) ने 9 में से 6 याचिकाओं पर ही जवाब दाखिल किया है. इसलिए दिल्ली पुलिस (Police) 2 दिन के भीतर अन्य याचिकाओं पर अपना जवाब दाखिल करे. वहीं दिल्ली पुलिस (Police) की ओर से पेश अधिवक्ता रजत नायर ने कहा कि उन्होंने सभी याचिकाओं का एक संयुक्त जवाब दाखिल किया है.

  अयोध्या में मेहमानों को कार्ड बंटने शुरू

पीठ ने कहा कि पुलिस (Police) को सभी मामलों में जवाब दाखिल करना है. वहीं कुछ याचिकाकर्ताओं की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता कॉलिन गोंजाल्विस ने कहा कि पुलिस (Police) ने उन तीन याचिकाओं पर जवाब दाखिल नहीं किया है जिनमें कथित रूप से पुलिस (Police) की पिटाई के कारण छात्रों को आई गंभीर चोटों के लिए मुआवजे और दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की गई है. इस बीच, याचिकाकर्ताओं ने मामले में फैसला किए गए मुद्दों की सूची दायर की. नायर ने पीठ से कहा कि उन्हें यह सूची कल देर रात मिली. उन्होंने जवाब देने के लिए अदालत से समय मांगा.

Please share this news