सोशल डिस्‍टेंसिंग ना अपनाए तो 30 कोरोना पीड़ित दिन में 406 लोगों को संक्रमित कर सकता है


नई दिल्‍ली . स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च की एक स्‍टडी का हवाला देते हुए कहा है कि अगर कोविद -19 का मरीज लॉकडाउन (Lockdown) फॉलो ना करे या सोशल डिस्‍टेंसिंग ना अपनाए तो वह 30 दिन में 406 लोगों को संक्रमित कर सकता है. एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में में उन्होंने कहा ‘ अगर लॉकडाउन (Lockdown) जारी नहीं रखा गया और सोशल डिस्‍टेंसिंग फॉलो ना हुई तो कोरोना के मामलों में कमी नहीं आ सकेगी. ‘

  'अमर अकबर एंथनी' आज बाहुबली 2 को पछाड़ देती, अमिताभ बच्चन ने किया यह टवीट

लंदन के एक कॉलेज की रिसर्च में सामने आया है कि नोवेल कोरोना (Corona virus) बेहद संक्रामक है. रिसर्च के मुताबिक, हर व्‍यक्ति इसे तीन लोगों में फैलाता है और वो तीन फिर अगले तीन. इस तरह यह 10 बार होता है. यानी एक व्‍यक्ति के जरिए 59,000 लोगों को संक्रमण हो सकता है. यह चौंकाने वाला आंकड़ा स्‍पेन, फ्रांस, इटली, अमेरिका के आंकड़ों से ज्‍यादा उलट नहीं जहां संक्रमण की संख्‍या लाखों में पहुंच गई है.

  विदेशों में बस्तरिया इमली की चटकार : साधुराम दुल्हानी

तेलंगाना के सीएम केसीआर ने साफ कहा है कि लॉकडाउन (Lockdown) ही कोरोना (Corona virus) के खिलाफ देश का इकलौता हथियार है. उन्‍होंने लॉकडाउन (Lockdown) को 3 जून तक बढ़ाने का सुझाव रखा है. उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि 14 अप्रैल के बाद जो भी फैसला हो, लोग उसका उसी तरह पालन करें जैसे अबतक करते आए हैं. कर्नाटक सीएम बीएस येदियुरप्‍पा ने भी कहा है कि ‘अभी जैसे हालात हैं, मुझे नहीं लगता लॉकडाउन (Lockdown) 14 अप्रैल को खत्‍म होगा.’ मध्‍य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि अगर जरूरत पड़ती है तो हम लॉकडाउन (Lockdown) को बढ़ाएंगे. महाराष्‍ट्र और उत्‍तर प्रदेश में लॉकडाउन (Lockdown) जारी रखने की चर्चा है. इससे लगता है कि लॉकडाउन (Lockdown) आगे भी जारी रह सकता है.

Please share this news