नीम के तेल का छिड़काव से पाया जा सकता है टिड्डियों पर नियंत्रण


महाराष्ट्र (Maharashtra) कृषि विवि ने प्रकोप से निपटने के तरीके सुझाए

औरंगाबाद . मध्य प्रदेश, राजस्थान (Rajasthan), उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और महाराष्ट्र (Maharashtra) में इस समय टिड्डी दल का प्रकोप बना हुआ है. इस सप्ताह की शुरुआत में टिड्डियों ने महाराष्ट्र (Maharashtra) के विदर्भ में भी धावा बोला था. महाराष्ट्र (Maharashtra) और देश के दूसरे राज्यों में टिड्डी दल के प्रकोप के बीच एक कृषि विश्वविद्यालय ने टिड्डियों के अंडे नष्ट करने और फसलों को उनसे बचाने के लिए नीम के तेल का छिड़काव करने जैसे कुछ सुझाव दिये हैं.

  ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ की अवधि बढ़ाने के फैसले को कैबिनेट की मंजूरी

मराठवाड़ा के परभनी में स्थित वसंतराव नाइक कृषि विश्वविद्यालय ने कहा कि टिड्डी दल द्वारा फसलों को नुकसान पहुंचाने और खाने की तलाश में लंबी दूरी तक उड़ान भरने के खतरे से निपटने के कुछ प्रभावी उपाय हैं. विश्वविद्यालय ने एक बयान में कहा कि टिड्डियों की समस्या से निपटने के कुछ प्रभावी तरीकों में उनके अंडे नष्ट करना और खड़ी फसलों पर नीम के तेल का छिड़काव करना शामिल हैं. विश्वविद्यालय के कृषि कीटविज्ञान विभाग ने इस संबंध में किसानों के लिए दिशानिर्देश जारी किए.

  भारत विश्व में "क्लीन एनर्जी" का मॉडल बनेगा : प्रधानमंत्री मोदी

मादा टिड्डियां 50 से 100 तक अंडे देती हैं:

विश्वविद्यालय ने कहा,‘मादा टिड्डियां नम जमीन में 50 से 100 तक अंडे देती हैं. प्रजनन की अवधि पर्यावरण पर निर्भर करती है और दो से चार सप्ताह तक हो सकती है. लार्वा अंडे से निकलकर तुरंत नहीं उड़ सकता.’ संस्थान ने सुझाया है कि अंडों को नष्ट करना एक उपाय हो सकता है. इसमें कहा गया है कि किसान 60 सेंटीमीटर चौड़ा और 75 सेंटीमीटर गहरा गड्ढा खोद सकते हैं, जिसमें छोटे टिड्डों को पकड़ा जा सकता है.

  उच्च न्यायालय ने संजय वन का ड्रोन से सर्वेक्षण करने का दिया आदेश

लार्वा बड़े होने पर समूह में उड़ते हैं:

विश्वविद्यालय के विशेषज्ञों ने बताया कि लार्वा बड़े होने पर समूह में उड़ते हैं और पत्तियां, शाखाएं, फूल तथा बीजों को नष्ट कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि रात के वक्त धुएं की मदद से भी टिड्डियों के बच्चों को नष्ट किया जा सकता है. उन्होंने बताया कि प्रति हेक्टेयर भूमि में 2.5 लीटर नीम तेल छिड़कने से भी इन पर नियंत्रण पाने में मदद मिलेगी.

Please share this news