Saturday , 26 September 2020

अमित शाह दिल्ली के प्रमुख अस्पताल एम्स में भर्ती क्‍यों नहीं हुए ?


-शशि थरूर ने शाह के प्राइवेट अस्पताल में एडमिट होने पर उठाया सवाल

नई दिल्ली (New Delhi) . पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस सांसद (Member of parliament) शशि थरूर ने कोरोना से संक्रमित पाए गए केंद्रीय गृह मंत्री अमित को प्राइवेट अस्पताल मेदांता में भर्ती कराए जाने पर सवाल उठाया है. थरूर ने कहा है कि सार्वजनिक संस्थानों को शक्तिशाली करने की जरूरत है क्‍योंकि ये जनता के विश्वास को प्रेरित करते हैं. बता दें कि 55 वर्षीय अमित शाह रविवार (Sunday) को कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं और उन्‍हें गुड़गांव स्थित मेदांता अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. कांग्रेस नेता शशि थरूर ने गृह मंत्री शाह के निजी अस्‍पताल में भर्ती होने पर सवाल उठाते हुए कहा है कि वे दिल्ली के प्रमुख अस्पताल एम्स में भर्ती क्‍यों नहीं हुए.

थरूर ने ट्वीट में लिखा है कि आश्चर्य है कि बीमार होने पर हमारे गृह मंत्री ने एम्स में नहीं, बल्कि पड़ोसी राज्य के एक निजी अस्पताल को कैसे चुना? सार्वजनिक संस्थानों को जनता के आत्मविश्वास को प्रेरित करने के लिए शक्तिशाली संस्‍थानों को ‘संरक्षण देने’ जाने की आवश्यकता है. देश में कोरोना (Corona virus) के मामले अब भी तेजी से बढ़ रहे हैं. कोरोना की चपटे में नेता भी आगे लगे हैं. कर्नाटक (Karnataka) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) बीएस येदियुरप्पा और उनके मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. दोनों निजी अस्पतालों में इलाज करा रहे हैं. भारत में कोरोना (Corona virus) के केसों की संख्‍या 18 लाख के आंकड़े को पार कर चुकी हैं, इसमें एक्टिव केसों की संख्‍या 5 लाख 79 हजार के आसपास है. महाराष्‍ट्र, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh)इस समय कोरोना (Corona virus) के कारण सबसे ज्‍यादा प्रभावित हैं.

Please share this news