Wednesday , 28 October 2020

बकाया के भुगतान के लिए 10 साल के समय से वोडाफोन आइडिया को मदद नहीं मिलेगी : फिच

नई दिल्ली (New Delhi) . फिच रेटिंग्स का मानना है कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) द्वारा दूरसंचार कंपनियों को समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) के बकाया के भुगतान के लिए 10 साल का समय देने से वोडाफोन आइडिया को अपनी स्थिति स्थिर करने में मदद नहीं मिलेगी. हालांकि, इस दौरान ग्राहकों की संख्या में बढ़ोतरी के जरिये जियो और एयरटेल की बाजार हिस्सेदारी बढ़ेगी. फिच ने कहा कि मोबाइल दरों में अगले 12 माह में 20 प्रतिशत की एक और वृद्धि संभावित है.

फिच रेटिंग्स ने कहा कि वोडाफोन आइडिया ने इक्विटी और ऋण के रूप में धन जुटाने की योजना बनाई है. इससे कंपनी के प्रतिस्पर्धी स्थिति लौटने की संभावना नहीं है. न ही इससे कंपनी ग्राहकों की संख्या में हुए नुकसान की भरपाई कर पाएगी, क्योंकि यह राशि निवेश की दृष्टि से पर्याप्त नहीं होगी. फिच की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ‘‘हमारा मानना है कि वोडाफोन आइडिया कमजोर बही खाते तथा वित्तीय मोर्चे पर लचीलेपन की कमी की वजह से धीरे-धीरे अपनी बाजार हिस्सेदारी गंवाएगी. वहीं दूसरी ओर उच्च्चतम न्यायालय के फैसले की वजह से जियो और एयरटेल की बाजार हिस्सेदारी बढ़ेगी.

Please share this news