कोरोना के खिलाफ जीत जरुरी, बाद में हो सकती हैं प्रतियोगिताएं : भाकर


नई दिल्ली (New Delhi) . निशानेबाज मनु भाकर ने कहा है कि अभी कोरोना महामारी (Epidemic) से निपटना (Patna) सबसे पहली वरीयता है. ऐसे में खेल प्रतियोगिताओं के नहीं होने से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता. इस महामारी (Epidemic) के कारण आगामी ओलिंपिक खेलों के आयोजन को लेकर भी गंभीर आशंकाएं पैदा हो गयी है और टोक्यो में पदक की प्रबल दावेदार मानी जा रही यह 18 वर्षीय खिलाड़ी उन चीजों के बारे में नहीं सोच रही है जो उसके नियंत्रण से बाहर हैं. भाकर ने कहा, ‘ट्रायल्स, प्रतियोगिताएं वर्तमान स्थिति में स्थगित होनी चाहिए क्योंकि अन्य बेहद अहम चीजें हैं जिन्हें दुनिया से निबटना है.’

  उदयपुर के आयुर्वेद महाविद्यालय द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव व रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने की बनाई औषधि

उन्होंने कहा कि निशानेबाज संबंधित संस्थाओं द्वारा जारी किये गये प्रोटोकॉल और दिशानिर्देशों का पालन कर रहे हैं. भाकर ने कहा, ‘हम स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देशों और विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) के दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन कर रहे हैं.’ वह उन कुछ निशानेबाजों में शामिल है जिन्होंने भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआई) के हाल में आयोजित ट्रायल्स में हिस्सा लिया था.

  पूरी रफ्तार से नहीं चल रहे कल-कारखाने, पर तापमान बढ़ाएंगा बिजली की मांग

भाकर ने कहा, ‘शिविर की स्थिति अच्छी थी क्योंकि वहां कुछ निशानेबाज ही थे. वहां ज्यादा भीड़ नहीं थी और यह केवल तीन दिन के लिये था.’ भाकर ने ओलिंपिक को लेकर कहा कि उस पर अनिश्चितता के बादल मंडरा रहे हैं, उन्होंने कहा, ‘मैं घर में आराम कर रही हूं. वर्तमान स्थिति में मेरी तैयारियां और मानसिकता प्रभावित नहीं हुई हैं. मैं अपना योगा सत्र और ‘मेडिटेशन’ जारी रखे हुए हूं. इससे मुझे संयमित बने रहने में सहायता मिलती है.’

Please share this news