बच्चों में सूजन की दुर्लभ बीमारी से अमेरिका में हड़कंप, हो रही मौतों से डॉक्टर परेशान


न्यूयॉर्क . शक्तिशाली अमेरिका में कोविड19 महामारी (Epidemic) का संकट अभी खत्म नहीं हुआ और अब कोरोना (Corona virus) के केंद्र रहे न्यूयॉर्क सिटी के अधिकारी बच्चों में सूजन की दुर्लभ बीमारी को लेकर परेशान हैं. डाक्टर ऐसे 110 मामलों की जांच कर रहे हैं. शहर के गवर्नर ने स्थिति को गंभीर बताया और कहा कि इससे तीन बच्चों की जान चली गई है. बच्चों में गंभीर बीमारी और बच्चों की मौत, सूजन की गंभीर बीमारी से संबंधित है जिसे कोविड-19 (Kovid-19) से जुड़ा ‘पीडियाट्रिक मल्टी-सिस्टम इंफ्लेमेटरी सिंड्रोम’ कहा जाता है. अब तक, पांच और सात साल के दो लड़कों और 18 साल की किशोरी की इस बीमारी के चलते मौत हो चुकी है. न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू क्योमो ने गुरुवार (Thursday) को कोरोना (Corona virus) पर नियमित प्रेस वार्ता में कहा कि न्यूयॉर्क स्वास्थ्य विभाग अब बच्चों में कोविड-19 (Kovid-19) संबंधी बीमारी के 110 मामलों को देख रहा है जो कवासाकी बीमारी या टॉक्सिक शॉक लाइक सिंड्रोम जैसा है और उन्होंने स्थिति को गंभीर एवं चिंताजनक बताया है. उन्होंने कहा कि न्यूयॉर्क राज्य एवं स्वास्थ्य विभाग इस दुर्लभ बीमारी की जांच करने में अमेरिका में सबसे आगे है.

  आयुष्मान कर रहे बुजुर्गो को जागरुक

न्यूयॉर्क के अलावा, 16 अन्य राज्य भी इसी तरह के मामलों को देख रहे हैं. क्यूमो ने आगाह किया है कि आने वाले दिनों-हफ्तों में मामले बढ़ सकते हैं और कहा है कि परिजनों को सतर्क रहना चाहिए तथा बच्चे को पांच दिन से ज्यादा बुखार रहने, शिशुओं को स्तनपान या कोई भी पेय पीने में दिक्कत होने, पेट में बहुत दर्द होने, दस्त या उलटी, त्वचा के रंग में बदलाव, सांस लेने में तकलीफ, आलसपन, चिड़चिड़ापन या भ्रम होने की स्थिति में तत्काल चिकित्सीय मदद लेनी चाहिए. उन्होंने कहा, यह बीमारी उन बच्चों में हो रही है जो कोरोना (Corona virus) के संपर्क में आए हैं और अब उनके शरीर में वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी (प्रतिरक्षी) हैं या वे अब भी वायरस से संक्रमित हैं.’ यह बीमारी एक साल से कम के शिशु से लेकर 21 साल तक के किशोरों को प्रभावित कर रही है.

  श्रमिक एक्सप्रेस में गूंजी किलकारी, लाड़ली लक्ष्मी ने लिया जन्म

क्यूमो ने कहा, जब आपको 100 से अधिक मामले देखने को मिलते हैं, जो कि इसका प्रसार बताते हैं, तो यह निश्चित तौर पर डराने वाली बात है. न्यूयॉर्क सिटी के मेयर बिल डे ब्लासियो ‍ने कहा कि कोविड-19 (Kovid-19) से जुड़ी दुर्लभ बीमारी का बच्चों में पाया जाना, बेहद चिंतित करने वाला है क्योंकि अब तक कोरोना (Corona virus) से बच्चे बहुत कम प्रभावित हो रहे थे. प्रभावित बच्चों की संख्या लगातार बढ़ रही है और भले ही यह अब भी दुर्लभ स्थिति है लेकिन शहर के अधिकारी इसे गंभीरता से ले रहे हैं और बेहद सतर्क हो गए हैं. उन्होंने बताया कि न्यूयॉर्क सिटी में 100 मामलों की पुष्टि हुई है, जिनमें से 55 में या तो कोविड-19 (Kovid-19) की पुष्टि हुई है या वे एंटीबॉडीज की जांच में पॉजिटिव पाए गए हैं. अधिकारियों ने कहा है कि बाल रोग चिकित्सकों द्वारा जल्द इस बीमारी का पता लगाना और बच्चों को विशेषज्ञों के पास भेजना आवश्यक है.

  कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए मॉल में किया गया अनोखा प्रयोग, लिफ्ट में बटन हटा लगाया फुट पैडल

न्यूयॉर्क में पांच साल के बच्चे की कोविड-19 (Kovid-19) संबंधी दिक्कतों के कारण मौत हो गई जबकि न्यूयॉर्क में सात साल के एक बच्चे ने मारिया फरेरी बाल अस्पताल में दम तोड़ दिया. इस सिंड्रोम ने हाल के हफ्तों में सबका ध्यान खींचा है क्योंकि कोरोना (Corona virus) के कारण बुरी तरह प्रभावित यूरोपीय देशों में ऐसे मामले सामने आने शुरू हो गए हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) (डब्ल्यूएचओ) की वैज्ञानिक, डॉ. मारिया वान केरखोवे ने कहा, कुछ यूरोपीय देशों में हाल में बच्चों में इस दुर्लभ बीमारी के वाकये सामने आए हैं जो कवासाकी सिंड्रोम से मिलती-जुलती है लेकिन यह बहुत दुर्लभ प्रतीत हो रहे हैं.

Please share this news