गर्मी के दिनों में मोजा पहनना मुसीबत


नई दिल्ली (New Delhi) . गर्मियों में काफी देर तक मोजा पहनना ‎किसी मुसीबत से कम नहीं है. क्यों‎कि शरीर के हर हिस्से को काम करने के लिए ब्लड की जरूरत पड़ती है, ले‎किन मोजा पहनने से पैरों की नसें दब जाती हैं. दबी हुई नसों में रक्त संचार सही तरीके से नहीं हो पाता. इसकी वजह से पूरे शरीर का रक्त संचार प्रभावित होता है. इसके कारण पैरों-एड़ियों में दर्द, झनझनाहट, सूजन या भारीपन जैसी समस्याएं आ जाती ‎हैं.

  इंदौर में 80 फीसदी खुला शहर, 4 जोन में बांटा गया इंदौर

दरअसल, दिनभर मोजा पहनने से एड़ी के हिस्से में खून कम पहुंच पाता है. इस वजह से कई बार एड़ी सुन्न पड़ जाती है और पैर काम करना बंद कर देते हैं. ग‎र्मियों के ‎दिनों में पैरों से पसीना ‎निकलता है जो‎कि मोजा ही सोखता है. मगर, देर तक मोजा पहने रहने से पसीना सूख नहीं पाता. इससे नमी के कारण मोजे में बैक्टीरिया और विषाणु पैदा हो जाते हैं जिससे फंगल इंफेक्शन हो सकता है.

  नौ माह के मासूम ने कोरोना से दम तोड़ा

अमूमन काफी देर तक एक ही मुद्रा में बैठे रहने या खड़े रहने से पैर सुन्न होने की शिकायत होती है. बताया गया ‎कि शरीर के किसी हिस्से में तरल पदार्थ का एक जगह जमना और उससे उस हिस्से में सूजन आना, एडीमा का लक्षण है. इसमें तरल पदार्थ त्वचा के नीचे के ऊतकों के बीच की खाली जगह में जम जाता है. इसकी वजह से उस हिस्से में सूजन आ जाती है. यह सूजन एड़ी से धीरे-धीरे ऊपर बढ़ने लगती है. इससे पैर सुन्न होने लगते हैं. इसे बेहद गंभीरता से लेना चाहिए.

Please share this news