हजारों ने की विदेश यात्रा, जानकारी छुपाई, इंदौर संभाग में करीब 3368 लोगों ने की विदेश यात्रा


भोपाल (Bhopal) . विश्वव्यापी समस्या कोरोना (Corona virus) के बावजूद इंदौर (Indore) (Indore) संभाग के हजारों लोगों ने विदेश यात्रा की और इसकी जानकारी भी छुपाई. इन लोगों की गैरजिम्मेदाराना हरकत आम लोगों के लिए मुसीबत बन सकती है. कोरोना (Corona virus) के खतरे को देखते हुए भारत सरकार (Government) ने इन लोगों की सूची इंदौर (Indore) (Indore) सहित संबंधित जिलों के कलेक्टरों को भेजी है. अब एक-एक यात्री के घर जाकर उनकी मेडिकल जांच कर पता लगाया जाएगा कि कहीं उन्हें कोरोना के लक्षण तो नहीं हैं. यह सर्वे 24 घंटे में किया जाना है. स्वास्थ्य विभाग, प्रशासन, पुलिस (Police) की संयुक्त टीम घर-घर जाकर इन यात्रियों (Passengers) का स्वास्थ्य परीक्षण करेगी.

  चीन में रोगमुक्त घोषित 14 फीसदी लोगों को फिर हुआ कोरोना, चिंता में पड़े विशेषज्ञ

प्राप्त जानकारी के अनुसार, इंदौर (Indore) (Indore) संभाग के तीन जिलों में करीब 3368 लोग 1 से 21 मार्च के बीच विदेश यात्राएं करके लौटे हैं. इनमें सर्वाधिक 3138 लोग इंदौर (Indore) (Indore) जिले के हैं, जबकि खंडवा के 150 और धार जिले के 80 लोग शामिल हैं. इनमें वे लोग हैं जो विदेश यात्रा करके दिल्ली-मुंबई (Mumbai) जैसे बड़े शहरों के एयरपोर्ट पर उतरे और वहां से ट्रेन, बस, टैक्सी से यात्रा करके अपने शहर और घर तक पहुंचे हैं. इन लोगों ने अब तक अपनी यात्रा की जनकारी छिपाकर रखी है.इंदौर (Indore) (Indore) में करीब 175 अधिकारियों व कर्मचारियों की टीम काम करेगी. इनमें नगर निगम के अधिकारी-कर्मचारी भी शामिल होंगे.

  कार्मिक के वेतन में कटौती नहीं करे-डोटासरा

कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव ने बताया कि इन यात्रियों (Passengers) का पता लगाकर न केवल उनकी जांच की जाएगी, बल्कि उनसे फॉर्म भी भरवाए जाएंगे. उनकी वर्तमान स्थिति देखकर उनके घर स्टीकर लगाकर उन्हें निश्चित अवधि के लिए होम क्वारंटाइन किया जाएगा. निगमायुक्त आशीष सिंह ने इस संबंध में मंगलवार (Tuesday) को बैठक लेकर अपर आयुक्तों की इसकी जवाबदारी सौंपी. उन्होंने अधिकतम दो दिन में सारी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को देने का लक्ष्य दिया है लेकिन कोशिश है कि सभी 3138 लोगों का सर्वे एक ही दिन में पूरा कर लिया जाए. अपर आयुक्त जोन के अधिकारी-कर्मचारियों को भेजकर सर्वे कराएंगे. इसमें विदेश से आने वाले लोगों के मोबाइल नंबर लेकर स्वास्थ्य विभाग के कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराया जाएगा.

  क्वारंटाइन के लिए किया जाए अरुण जेटली स्टेडियम का इस्तेमाल : खन्ना

स्वास्थ्य विभाग इन लोगों से सतत संपर्क रखेगा और तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर उनके इलाज की व्यवस्था करेगा. कुछ अपर आयुक्तों ने अपने जोन के अधिकारियों की बैठक लेकर उन्हें जिम्मेदारी भी सौंप दी. हर जोन में औसतन 200 लोगों की सूची है जिनके घर पहुंचकर सर्वे करना है.नगर निगम के अधिकारी और कर्मचारी आज विदेश से इंदौर (Indore) (Indore) आने वाले लोगों का सर्वे करेंगे. किसी व्यक्ति को सर्दी-खांसी या बुखार हुआ तो वे इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को देंगे, ताकि उन पर निगाह रखकर उन्हें घर पर आइसोलेट करने या क्वारंटाइन करने को लेकर निर्णय लिया जा सके.

Please share this news