प्रशासन की नाक के नीचे चल रही थी अवैध शराब की फैक्ट्री


हरपालपुर . सोमवार (Monday) को थाना क्षेत्र के ग्राम सरसेड़ में आबकारी एवं पुलिस (Police) विभाग ने कच्ची शराब बनाने वाली एक फैक्ट्री पर छापामार कार्यवाही की है. कार्यवाही के दौरान भारी मात्रा में लहान, कच्ची शराब, आधा दर्जन भट्टियां मिली थीं जिन्हें जेसीबी की मदद से नष्ट कर दिया गया है. हलांकि मौके पर शराब बनाने वाले आरोपी नहीं मिले हैं. बहरहाल फरार आरोपियों पर आबकारी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.

जानकारी के अनुसार सरसेड़ में स्थित क्रेशरों के पास कबूतरों के डेरे पर कच्ची शराब बनाने की फैक्टरी चल रही थी जिसका सोशल मीडिया (Media) पर एक वीडियो वायरल हुआ. कलेक्टर (Collector) शीलेन्द्र सिंह तथा पुलिस (Police) अधीक्षक कुमार सौरभ के निर्देश पर जिला आबकारी अधिकारी शैलेश जैन ने आबकारी अमले और हरपालपुर थाना पर प्रभारी दिलीप पांडेय ने पुलिस (Police)बल के साथ सुबह करीब 10 बजे संबंधित स्थान पर छापामार कार्यवाही की. इस दौरान उन्हें आधा दर्जन शराब की जलती भट्टी और 18 हजार लीटर ड्रामों में लहान भरा मिला. इसके साथ ही करीब 500 लीटर से अधिक शराब ड्रमों तथा केनों मे भरा मिला. बताया गया है कि आरोपियों द्वारा शराब से भरे 20 ड्रमों को अधिकारियों की नजऱ से बचाने के लिए जमीन के अंदर छिपाया था जिसे भी जप्त किया गया है.

  पत्नी को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का आरोपी पति गिरफ्तार

उक्त पूरी सामग्री की कीमत लगभग 5 लाख रुपये बताई गई है जिसे जेसीबी मशीन की मदद से नष्ट कर दिया गया. प्रशासन की यह कार्यवाही लगभग 4 घंटे तक चली. हालांकि अधिकारियों के पहुंचने से पहले सभी आरोपी मौके से भाग गए थे. प्रशासन को मौके से शराब बनाने की सामग्री के अलावा 6 मोटरसाईकिलें भी मिली हैं जिन्हें ट्रैक्टर की मदद से थाने में रखवा दिया गया है. कार्यवाही के दौरान जिला आबकारी अधिकारी शैलेश जैन के अलावा अरविंदर गुप्ता एडीओ, मुकेश मौर्य एडीपीओ, जीतेंद शर्मा एसआई भी मौजूद रहे.

Please share this news