रेलवे ने सीमेंट कंपनियों से मालगाड़ियां खाली करने को कहा, जरूरी सामान की होगी सप्लाई

नई दिल्ली (New Delhi) . भारतीय रेलवे (Railway)ने सीमेंट कंपनियों से कहा है कि वे अपना सामान मालगाड़ियों से उतार दें, ताकि उन मालगाड़ियों का उपयोग देश में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए हो सके. सूत्रों ने कहा कि लॉकडाउन (Lockdown) लागू होने के साथ रेलवे (Railway)अनाज पहुंचाने के लिए प्रतिदिन लगभग 50-60 रैक का इस्तेमाल कर रहा है, लेकिन मांग अधिक है. रेलवे (Railway)ने बताया कि इस समय सीमेंट की बोरियों से लदी लगभग 300 मालगाड़ियां खड़ी हैं.

  पंजाब सरकार ने 59 और रेलगाडिय़ां भेजने के लिए बिहार से सहमति मांगी

कोरोना के कारण निर्माण गतिविधियां बंद होने के कारण सीमेंट कंपनियां उन्हें उतारने की जल्दी में नहीं हैं. अधिकारियों ने कहा कि रेलवे (Railway)ने माल उतारने में देरी पर लगाने वाले शुल्क को माफ कर दिया है,इसकारण सीमेंट कंपनियों को माल नहीं उतारने पर कोई नुकसान नहीं हो रहा है. इसके बाद रेलवे (Railway)ने कहा है कि अगर वे एक-दो दिनों में अपना माल नहीं उतरते हैं, हम उन पर शुल्क लगा देने वाले है. अधिकारियों ने कहा कि देश में आवश्यक वस्तुओं की भारी मांग को देखकर और सड़क मार्ग से माल की आवाजाही बहुत कम होने के चलते इन मालगाड़ियों को फलों, सब्जियों, खाद्यान्नों, नमक और चीनी जैसी जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति के लिए मुक्त कराना जरूरी है. सूत्रों ने कहा कि रेलवे (Railway)यह सुनिश्चित करने के लिए राज्य के अधिकारियों के संपर्क में है कि उनकी मालगाड़ियों को समय पर रवाना किया जाए.

Please share this news