कहीं कोरोना के भय से तो अंडरग्राउंड नहीं हो गए उत्तर कोरियाई शासक क‍िम जोंग उन ?


प्‍योंगयांग . दुनिया में तानाशाह शासक के रूप में ख्यात उत्तर कोरियाई के राष्ट्रपति किम जोंग उन के स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर सरगर्मी है कि उनका स्वास्थ्य काफी खराब है. जापान और हांगकांग से आ रही मीडिया (Media) रिपोर्टों में दावा किया जा रहा है कि किम जोंग उन की हालत बेहद गंभीर है. वहीं, दक्षिण कोरिया ने कहा कि किम जोंग उन स्‍वस्‍थ हैं. इन परस्‍पर विरोधी खबरों के बीच अब यह दावा किया जा रहा है कि किम जोंग उन कोरोना (Corona virus) से डर गए हैं और इस महामारी (Epidemic) से बचने के लिए कहीं छिप गए हैं.

एक ब्रिटिश अखबार के मुताबिक उत्तर कोरियाई तानाशाह के एक बॉडीगार्ड को कोरोना संक्रमित पाया गया है. कोरोना के खतरे को देखते हुए क‍िम जोंग उन सार्वजनिक जीवन में दिखाई नहीं दे रहे हैं. किम जोंग उन के स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर उस समय अटकलें तेज हुईं जब 15 अप्रैल को अपने दादा की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में दिखाई नहीं दिए थे. किम को लेकर चल रही अटकलों के बीच चीन में रहने वाले एक उत्तर कोरियाई विशेषज्ञ ने कथित रूप से कहा है कि ‘तानाशाह की सुरक्षा करने वाले सुप्रीम गार्ड कमांड में दिक्‍कत की वजह से किम जोंग कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए.’

  पंक्चर की दुकान का पता नहीं बता पाया तो युवक को बाइक से कुचलकर मार डाला

सूत्रों ने कहा कि क‍िम जोंग उन के एक निजी सुरक्षा गार्ड को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. यह गार्ड किम के सुरक्षा दस्‍ते में शामिल था. सूत्रों ने कहा कि उत्तर कोरियाई सुरक्षा गार्ड के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद न केवल किम जोंग की सुरक्षा बल्कि उनके कोरोना से संक्रमित होने का खतरा उत्‍पन्‍न हो गया था. इससे पहले ऐसी खबरें आई थीं कि किम जोंग कोरोना (Corona virus) के खौफ से राजधानी प्‍योंगयांग से निकलकर देश के किसी बाहरी इलाके में छिप गए हैं. कहा जा रहा है कि उत्तर कोरिया के 180 सुरक्षा गार्ड कोरोना (Corona virus) के शिकार हो गए हैं.

  बलबीर सिंह सीनियर महान खिलाडी थे, पाकिस्तानी हॉकी धुरंधरों ने कहा

उत्तर कोरिया से आ रही ये सभी सूचनाएं अभी अपुष्‍ट हैं. दरअसल, उत्तर कोरिया सूचनाएं छिपाने के लिए पूरी दुनिया में कुख्‍यात है. इसी वजह से यह साफ नहीं पा रहा है कि किम जोंग उन क्‍यों दिखाई नहीं दे रहे हैं. इस बीच दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति की फॉरेन पॉलिसी एडवाइजर चुंग-इन मून ने कहा कि किम जिंदा हैं और स्वस्थ्य हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक, मून ने कहा कि किम को लेकर हमारी सरकार (Government) का रुख कायम है. मून ने कहा, ‘किम जोंग उन जिंदा हैं और स्वस्थ हैं. वह किम 13 अप्रैल से ही देश के वोनसन एरिया में रह रहे हैं. उन्होंने बताया, ‘अभी तक कोई संदिग्ध गतिविधियां नहीं देखी गई हैं.’ किम की खराब सेहत की अटकलों के बीच उत्तर कोरिया के सरकारी अखबार ने रविवार (Sunday) को खबर प्रकाशित की है. इसमें कहा गया है कि किम ने उन कामगारों के प्रति आभार जताया है जो कि समजीयोन शहर के कायापलट का काम कर रहे हैं.

  प्रमुख शासन सचिव ने पेयजल को लेकर ली बैठक

दरअसल, हॉन्गकॉन्ग के टीवी ने दावा किया था कि इस बात के ठोस सबूत हैं कि किम की मौत हो चुकी है. किम को 11 अप्रैल के बाद से ही पब्लिक में नहीं देखा गया है. उस दिन उन्होंने सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी कमेटी की बैठक की थी. वहीं, एक दक्षिण कोरियाई अखबार ने कहा था कि किम के हार्ट की सर्जरी की गई है. अखबार ने कहा था कि वह बहुत स्मोक करते हैं और जरूरत से ज्यादा काम करते हैं इसलिए बीमार हो गए थे. उन्हें मोटापे की भी समस्या है. इसने दावा किया था कि उनका हयांगसान काउंटी में इलाज चल रहा है. बताया गया है कि किम के सेहत में सुधार होने के बाद मेडिकल टीम 19 अप्रैल को प्योंगयांग लौट आई थी, वहीं कुछ मेडिकलकर्मी वहीं मौजूद हैं. चीन ने भी अपने डॉक्‍टर वहां भेजे हैं.

Please share this news