एम्स की डॉक्टर ने किया खुदकुशी का प्रयास, सीनियर पर लगाया जातिगत उत्पीड़न का आरोप


नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली एम्स की एक सीनियर डॉक्टर (doctor) ने खुदकुशी करने का प्रयास किया है. यह डॉक्टर (doctor) सेंटर फॉर डेंटल एजुकेशन एंड रिसर्च (सीडीईआर) में तैनात हैं. डॉक्टर (doctor) ने अपने ही विभाग के एक फैकल्टी मेंबर पर जातिगत उत्पीड़न का आरोप लगाया है. एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर (doctor) एसोसिएशन (आरडीए) ने इसकी शिकायत केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन से की है और इस मामले में उचित कार्रवाई की मांग की है.

अस्पताल के अधिकारियों का कहना है कि डॉक्टर (doctor) ने पहले एम्स प्रशासन से इस बात की शिकायत की थी. शुक्रवार (Friday) शाम उन्होंने कथित रूप से दवा की ओवरडोज लेकर खुदकुशी करने की कोशिश की. उन्हें एम्स के आईसीयू में भर्ती कराया गया जहां उनकी हालत स्थिर है और तबीयत धीरे-धीरे सुधर रही है. इस घटना के बाद आरडीए ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन को पत्र लिख कर कार्रवाई की मांग की है. पत्र में गंभीर उत्पीड़न की शिकायत की गई है.

  जापान में भारी वर्षा और बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, अब तक 14 लोगों की मौत

पत्र में कहा गया है कि एम्स की एक डेंटल सर्जन ने एक सीनियर फैकल्टी मेंबर के खिलाफ जातिगत उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए खुदकुशी करने की कोशिश की है. डेंटल सर्जन ने इससे पहले कई बार एम्स के निदेशक और एससी/एसटी कमीशन को पत्र लिख कर इस घटना के बारे में आगाह किया है लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है. डॉक्टर (doctor) फिलहाल आईसीयू में भर्ती है.

  राजस्थान में यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं रद्द

डॉ हर्षवर्धन को लिखे पत्र में आरडीए ने कहा है कि उक्त डॉक्टर (doctor) ने एम्स के महिला शिकायत प्रकोष्ठ और एससी/एसटी वेलफेयर सेल में भी शिकायत दर्ज कराई थी. इसके अलावा उन्होंने नई दिल्ली (New Delhi) स्थित नेशनल एससी/एसटी कमीशन में भी शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन कोई उचित कार्रवाई नहीं की गई. पत्र के मुताबिक, एम्स प्रशासन के अड़ियल रवैए के कारण एक डॉक्टर (doctor) को खुद की जान जोखिम में डालने वाला कदम उठाना पड़ा.

Please share this news