कार्रवाई से डरें स्वास्थ्य विभाग ने रची साजिस, एसडीएम पर अभद्रता का आरोप जड़, ड्यूटी से लिया किनारा

मऊ( ). जिले में कोरोना पाजिटिव मिलने के बाद से ‘‘हाट स्पाट’’ घोषित इलाके में शासन की मंशा के अनुसार स्वास्थ्य विभाग की टीम काम करने से खुद को पीछे हटा ली है. ‘‘डोर टू डोर’’ सर्वे में संदिग्ध आकड़ों पर एसडीएम के द्वारा शीर्ष अधिकारियों को दी गई रिपोर्ट के बाद स्वास्थ्य विभाग के लोगों ने एसडीएम पर अभद्रता का आरोप लगा कर काम करने से इनकार कर दिया है.

  2 महीने में सरकार को 4.66 लाख करोड़ का घाटा

मनमानियों की कलई खुलने के डर से आहत स्वास्थ्य विभाग के लोगो ने ड्रामा’’ तैयार कर एसडीएम पर आरेाप मढते हुए खुद को डियूटी से अलग कर लिया है. एसडीएम अतुल कुमार वत्स ने से बातचीत में श्रक्रवार को बताया कि जिले के विकास खंड कोपागज कब्बे से एक युवक को कोरोना का पाजिटिव मिलने से इलाके को ‘‘हाटस्पाट’’ घोषित कर दिया गया है. ‘‘हाट स्पाट’’ घोषित करने के बाद से इलाके के एक किमी की ऐरिया में डोर टू डोर सर्वे का काम किया जा रहा था. स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दो दिनों में 34 हजार लोगों के बारे मे सुचनाएं इकटठा किया गया.

  गाज गिरने से 7 मवेशियों की मौत

इन सूचनाओ में कोई भी आदमी ऐसा नही मिला जो सामान्य सर्दी जुखाम से पीड़ित रहा हो. एसडीएम ने स्वास्थ्य विभाग के द्वारा किए गए इस सर्वे को मनगढंत करार देते हुए इसको संदिग्ध बताते हुए इसकी जानकारी शीर्ष अधिकारियों तक भेज दी. एसडीएम ने कहा कि मामले को गरम होते देख स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एक ड्रामा तैयार किया और एसडीएम पर अभद्रता का आरोप लगाते हुए खुद को सर्वे के काम से अलग कर दिया. बहरहाल मामला गरम है. हाट स्पाट घोषित इलाके में समाचार दिए जाने तक स्वास्य विभाग की टीम कार्य नही कर रही है.

Please share this news