Wednesday , 28 October 2020

मुख्यमंत्री ने पहली अंडरग्राउंड मेट्रो को हरी झड़ी दिखाई

दूसरे फेस में सीतापुरा से अंबाबाडी तक शुरू होगी शीघ्र मेट्रो परियोजना

जयपुर (jaipur) . मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने आज जयपुर (jaipur) को पहली चांदपोल से बड़ी चौपड़ तक अंडरग्राउंड मेट्रो को हरी झड़ी दिखाकर रवाना किया. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने सीएमआर से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए फेस वन बी का लोकार्पण करते हुए कहा कि प्रदेश को विकास की गति देने में हम किसी अन्य राज्य से पीछे नहीं है पर अचानक आ धमके कोरोना ने राज्य की नहीं अन्य प्रदेशो की माली हालात पतली कर दी. इस दौरान उन्होने यह भी कहा कि कई राज्य तो ऐसे है जिन्हें कर्मचारियों को वेतन नहीं मिल पा रहा है.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) गहलोत ने कहा कि कोरोना के इंतजाम में भी राजस्थान (Rajasthan) ने शानदार काम किया जिस प्रकार भूमिगत मेट्रो देश में चलाने में जयपुर (jaipur) का पहला नाम जुड़ गया है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि जयपुर (jaipur) चारदीवारी के अंदर भूमिगत मेट्रो चलाना बहुत मुश्किल काम था वर्ल्‍डहैरिटेज सिटी में जयपुर (jaipur) का नाम पर्यटन की दृष्टि से सर्वोच्य स्थान पर है ऐसे में मंदिरो पर्यावरण को सुरक्षित रखने में बडे बड़े वृक्षों को भी सुरक्षित रखना आसान ना था पर मेट्रो प्रशासन के इंजीनियरों की सूझबुझ और सरकार (Government) की दृढ इच्छा शक्ति से पर्यटन पर्यारवाण और विरासत सभी को सुरक्षित रखा गया. उन्होने कहा कि सीतापुरा से अंबाबाड़ी तक का 22 किमी का सेकंड फेज का काम भी शुरू करेंगे. इसमें एयरपोर्ट भी जुड़ जाएगा.

जल्दी ही मानसरोवर को दूसरे इलाकों से जोड़ा जाएगा. यह हमारी प्रायोरिटी में है लेकिन कोरोना के कारण इसमें विलंब हो रहा है. पर्यटकों सहित लाखों लोग जयपुर (jaipur) आते हैं अब उनकोयात्रा करने में आसानी होगी. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल से मजाकिया अंदाज में जयपुर (jaipur), कोटा के साथ जोधपुर में भी मेट्रो चलाने का आग्रह किया पर उन्होने कहा कि सरकार (Government) आमजन को सस्ता सफर मुहैया करवाने के लिए मेट्रो चलाने के लिए मार्गो का चयन करती रहेगी. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने अपने संबोधन से पहले मेट्रो को चलाने वाली पायलट शैफाली से अपने विचार रखने को कहा.

इस पर शैफाली ने कहा कि यह मेरे लिए गर्व की बात है कि मुझे भूमिगत मेट्रो चलाने का मौका मिला है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने शैफाली का उत्साहवर्धन किया और कहा कि यह अच्छी बात है कि इस काम का शुभारंभ एक महिला के हाथों हो रहा है. यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि और अन्य राज्यों की तुलना में हमारी मेट्रो का किराया कम है. उन्होने कहा कि मेट्रो ई-रिक्शा से भी सस्ती होगी. चांदपोल से बड़ी चौपड़ के बीच मेट्रो का किराया सिर्फ 6 रुपए होगा, जबकि चांदपोल से बड़ी चौपड़ के लिए ई रिक्शा 10 रुपए लेते हैं. वहीं अगर चांदपोल से छोटी चौपड़ जाएंगे तो भी 6 रुपए ही लगेगा. बड़ी चौपड़ से मानसरोवर जाएंगे तो 22 रुपए और चांदपोल से मानसरोवर का 18 रुपए किराया होगा. इस अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, मेट्रो सीएमडी भास्क ए सावंत, मुख्य सचिव राजीव स्वरूप के साथ कई आला अधिकारी, क्षेत्रीय विधायक विधानसभा में उपमुख्यसचेतक महेश जोशी, विधायक अमीनुद्दीन कागजी मौजूद रहे.

कोरोना के कारण राज्य गंभीर वित्तीय संकट में आए :- मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कहा कि कोरोना के कारण राज्य का वित्तीय ढांचा गडबड़ा गया है ऐसे में सरकार (Government) ने विकास की गति को नहीं रूकने दिया और ना ही कोरोना प्रबंधन में कोताही आने दी पर कोरोना ने वित्तीय संकट गहरा दिया है ऐसे में केन्द्र सरकार (Government) को चाहिए राज्य को आर्थिक मदद करें फिर चाहे उसे आरबीआई (Reserve Bank of India) को नई करेंसी छापने का निर्देश क्यो ना देना पडे. उन्होने कहा कि केन्द्र सरकार (Government) को जीएसटी के हिस्से की रकम अविलंब जारी करना चाहिए और कोरोना प्रबंधन में जो अनलिमिटेड खर्च हुआ है उसके लिए भी ग्रांट जारी करनी चाहिए मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि राजस्थान (Rajasthan) की जनता ने सरकार (Government) का पूरा साथ दिया है यही कारण है कि राज्य में सरकारी कर्मचारियों को मिलने वाला वेतन और विकास के लिए जारी की गई योजनाएं परियोजनाएं पूरी की जा रही है पर यह सच है कि कोरोना के कारण राज्य गंभीर आर्थिक संकट में है.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *