Wednesday , 28 October 2020

ऑडियो टेप की प्रामाणिकता की जांच अमेरिका में करवाई जाएगी : गहलोत


जयपुर (jaipur) . राजस्थान (Rajasthan) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कहा है कि उनकी गिराने के लिए विधायकों की कथित खरीद-फरोख्त संबंधी ऑडियो टेप की प्रामाणिकता की जांच अमेरिका में करवाई जाएगी. इस टेप की विश्वसनीयता को लेकर उठाए जा रहे सवालों पर मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा, ‘जब ऑडियो टेप सही है. हम तो अमेरिकी एफएसएल एजेंसी भेज देंगे वहां भेजकर वायस टेस्ट करवा लेंगे.’ इसके साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह वायस टेस्ट क्यों नहीं दे रहे? गहलोत ने कहा, ‘उनको चाहिए कि आगे आकर वायस टेस्ट करवाएं.’

गहलोत ने कहा,’वैसे तो केंद्रीय मंत्री हैं, एमएलए हैं, उनकी वायस टेस्ट हो ही जाती है. हम लोग इतनी जगह स्पीच देते हैं. तो सबको मालूम है कि आवाज उनकी है दुनिया मानती है, प्रदेश मानता है, जनता मानती है. फिर भी बचाव करने के लिए पहले यही कहता है कि मेरी आवाज नहीं है. धमकियां भी दे रहे हैं वे लोग लेकिन यह चलेगा नहीं, सच्चाई की जीत होगी. सत्यमेव जयते.’

कांग्रेस का दावा है कि इस ऑडियो में एक आवाज शेखावत की है, हालांकि वह इससे इनकार कर चुके हैं. इस संबंध में मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भी लिखा है, और कहा है कि राज्य में कांग्रेस की निर्वाचित सरकार (Government) को गिराने का प्रयास हो रहा है और इस षड्यंत्र में केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत भी शामिल हैं. इस बारे में पूछे जाने पर गहलोत ने कहा, ‘प्रधानमंत्री जी को चिट्टी मैंने लिखी है. लोकतंत्र है, संघीय ढांचा है.

मुझे लगा कि प्रधानमंत्री कल को यह नहीं कह दें कि मुझे जानकारी नहीं थी या मुझे मेरे लोगों द्वारा अधूरी जानकारी दी गई. कल जब मैं उनसे मिलूं तो मुझे ये नहीं कहें कि भई ये बात तो मुझे मालूम ही नहीं थी. मैंने कहा कि कम से कल को वे यही नहीं कहें मुझे जानकारी मेरी पार्टी ने दी नहीं थी इसलिए ऐसा हो गया. इसलिए यह पत्र लिखा है रिकॉर्ड में लाने के लिए.’

Please share this news