खाद्य सुरक्षा योजना से वंचितों को गेहूं वितरण के लिए सर्वे जारी, 31 मई है अंतिम तिथि, प्रशासन ने की सर्वे फार्म भरने की अपील

उदयपुर (Udaipur). कोरोना महामारी (Epidemic) में जरूरतमंद प्रवासी व्यक्तियों व अन्य विशेष श्रेणियों के उन व्यक्तियों को खा़द्यान्न उपलब्ध कराने के लिए सर्वे जारी है जिनके नाम खाद्य सुरक्षा योजना (एनएफएसए) में चयनित नहीं हैं.

अतिरिक्त जिला कलक्टर (District Collector) (प्रशासन) ओ.पी. बुनकर ने बताया कि सर्वे कार्य जारी है तथा राज्य सरकार (Government) द्वारा प्रवासी व्यक्तियों को खाद्यान्न सहायता एवं अन्य विशेष श्रेणियों के परिवारों (नॉन एनएफएसए) के सर्वे फॉर्म ऑनलाइन किए जाने की निःशुल्क सेवा ई-मित्र के माध्यम से उपलब्ध करवाई जा रही है. उन्होंने ऐसे लोगों से आह्वान किया है कि वे ईमित्र के माध्यम से अपनी जानकारी सर्वे प्रपत्र में उपलब्ध करावें ताकि उन्हें खाद्यान्न वितरण किया जा सके.

  कलक्टर ने उदयपुर शहर में विभिन्न क्षेत्रों में लगाई निषेधाज्ञा

यह है खाद्यान्न वितरण की विशेष योजना:

बुनकर ने बताया कि कोविड-19 (Covid-19) महामारी (Epidemic) के कारण अस्थायी रूप से बन्द हुए उद्योगों एवं धंधों में कार्यरत कार्मिको के लिए खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग द्वारा गेहूं वितरण किया जाएगा. इसके लिए प्रवासी व्यक्तियों को ई-मित्र पोर्टल पर अपनी जानकारी सर्वे फॉर्म में दर्ज करानी होगी. यह सुविधा दो तरह के व्यक्तियों के लिए है. एक वे जो राजस्थान (Rajasthan) के निवासी है और जिनके पास जन आधार कार्ड है व वे परिवार एनएफएसए में चयनित नहीं है तथा दूसरे ऐसे व्यक्ति जो राजस्थान (Rajasthan) के निवासी नहीं है पर राजस्थान (Rajasthan) में निवास कर रहे है और उनके पास जन आधार कार्ड भी नहीं है एवं वे परिवार एनएफएसए में चयनित नहीं है. इस योजना का लाभ लेने के लिए जानकारी को सर्वे फार्म में दर्ज कराने की सेवा ई-मित्र मोबाइल एप एवं ई-मित्र पोर्टल के माध्यम से भी उपलब्ध करवाई जा रही है. विेशेषकर कर्फ्यूग्रस्त क्षेत्र में मोबाइल एप के माध्यम से यह सेवा प्राप्त की जा सकती है.

Please share this news