देशभर के केंद्रों को केंद्रीय भंडार गुरुग्राम से दवाइयों की आपूर्ति


नई दिल्ली (New Delhi) . कोरोना संक्रमण से उतपन्न हुई विषम परिस्थितियों में भी प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना के अंतर्गत देश भर में चल रहे 6300 से अधिक जनऔषधि केंद्र अपने अपने एरिया के लोगों को जरूरी दवाइयां उपलब्ध करवा रहे है, फॉर्मिसिस्टों को अब लोगों ने “स्वास्थ्य के सिपाही” नाम दे दिया गया है जो बुजुर्ग व गम्भीर बीमार पेसेंट्स को घर पर भी दवाइयाँ पहुँचा रहे हैं. हाल ही में हमारे एक जनऔषधि केंद्र के “स्वास्थ्य के सिपाही” ने अपने अनुभव को साझा करते हुए बताया की मेरे एरिया से ही मेरे मोबाइल पर एक कॉल आया और उधर से बडी ही करुण आवाज में एक वृद्ध महिला बोली की बेटा मैं 80 साल की हूँ और मैं और मेरे पति के अलावा मेरे साथ कोई नहीं है.

  लखनऊ विवि के एलएलबी थर्ड सेमेस्टर एग्जाम का पेपर हुआ था लीक

मेरी दवाइयाँ खत्म हो गई है, अगर आज मेरी दवाइयाँ मुझे नही मिली तो बहुत मुश्किल हो जाएगी. बेटा क्या तुम पहाड़िया, वाराणसी प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि केन्द्र से बोल रहे हो. “स्वास्थ्य के सिपाही” ने जवाब में बोलै हाँ माता जी मैं जनऔषधि केंद्र से ही बोल रहा हूँ. वृद्ध महिला ने करुण आवाज में बोला की क्या आप इस मुसीबत में हमारी सहायता करोगे? फिर क्या था, न आँखों से आँसू रुके और न ही कदम रुके और निकल पड़ा में अपनी इस असहाय माँ की सेवा करने. और उस समय से ले कर हर रोज़ बुजुर्गों को घर तक दवाइयाँ पहुंचाने का सिलसिला रुका ही नहीँ.

  लॉकडाउन 5.0 इन 13 शहरों में सख्त हो सकते हैं नियम

देश के हर हिस्से में दवाइयां पहुंचने के लिए एक मजबूत व्यवस्था की गयी है जिसके लिए एक डब्लू एच ओ गाइडलाइन्स पर आधारित केंद्रीय गोदाम जो की गुरुग्राम (Gurugram)में एवं दो क्षेत्रीय गोदाम जो की गुवाहाटी एवं चेन्नई में उपस्थित हैं. इसके अलावा 50 डिस्ट्रीब्यूटर की भी नियुक्ति की गयी गई जहा से देश भर के जन औषधि केंद्रों को दवाइयां मुहैया कराई जा रहे हैं. केंद्रीय गोदाम, क्षेत्रीय गोदाम, डिस्ट्रीब्यूटर एवं जन औषधि केंद्रों को पूरी तरह से आधारित सॉफ्टवेयर से जोड़ा गया है साथ ही साथ सभी केन्द्रो पर पॉइंट ऑफ़ सेल सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन भी लगाया गया है जिससे दवाइयों की आपूर्ति ठीक तरह से हो सके एवं देश के किसी भी केंद्र पर दवाइयों की कमी न हो.

  सबसे गर्म साल हो सकता है 2020, वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी

प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना के द्वारा जन औषधि सुगम मोबाइल एप्लीकेशन को लॉन्च किया गया है जिसमें सभी ऑप्शन्स को बहुत ही यूजर फ्रेंडली बनाया गया है. इस मोबाइल एप्लीकेशन के द्वारा अब लोग अपने मोबाइल पर ही अपने नजदीकी जन औषधि केंद्र का पता, लोकेशन, दवाइयों की उपलब्धता, दवाइयों पर बचत, इत्यादी के बारें में घर बैठे ही जान सकते हैं. जन औषधि सुगम मोबाइल एप्लीकेशन को गूगल प्ले स्टोर पर एवं एप्पल स्टोर के माध्यम से फ्री में डाउनलोड किया जा सकता है.

Please share this news