सुशांत सिंह केस में सुब्रह्मण्यम स्वामी करेंगे कंगना रनौत की सहायता

बीजेपी नेता शांता कुमार ने कंगना को बताया हिमाचल की बहादुर बेटी

पालमपुर . भारतीय जनता पार्टी के नेता एवं हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के भूतपूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) शांता कुमार ने सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या (Murder) मामले में कहा कि प्रतिदिन नये-नये रहस्यों के पर्दे खुल रहे हैं. इस केस में आप की अदालत में कंगना रनौत को सुनकर हैरानी परेशानी और ख़ुशी भी हुई. कितनी बहादुर लड़की है. कितना बेबाक बोलती है. चेहरे पर ही नहीं, शब्दों से भी आत्मविश्वास झलकता है. पूर्व सीएम ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या (Murder) में पूरी जांच से दोषियों को पकड़ा जाना चाहिये. उन्हें प्रसन्नता है कि कंगना पुलिस (Police) में गवाही दे रही है और प्रसिद्ध नेता व वकील सुब्रह्मण्यम स्वामी उस में सहायता कर रहे है. स्वामी जी मेरे पुराने मित्र हैं. मैंने आज उनसे फोन पर बात की है. उन्होंने विश्वास दिलाया है कि वे इस में उनकी पूरी सहायता करेंगे.

शांता ने कहा कि पहली बार उन्होंने सुना कि मूवी माफिया भी है. शांता ने कहा कि यह सोचकर गर्व हुआ कि हिमाचल की एक बहादुर बेटी है. हिमाचल के गांव से उठकर अपनी प्रतिभा व हिम्मत से इतना ऊंचा स्थान प्राप्त किया है. इस बात की भी प्रसन्नता है कि कंगना ने अपना मकान मनाली में बनाया. अपनी नानी के पास आकर पतरोड़े भी खाती है. उसे हार्दिक बधाई शुभकामनायें.

साहित्य जगत में भी हैं कुछ मट्ठाधीश गुटवाज: शांता कुमार ने कहा कि साहित्य जगत में भी कुछ मट्ठाधीश गुटवाज ऐसे हैं, जो यह प्रबंध करते हैं कि किस को सम्मान दिलवाना है और किसको पीछे रखना है. हिन्दी जगत की सबसे अधिक पढ़ी जानेवाली उपन्यास कार शिवानी को कभी कोई बड़ा पुरुस्कार नहीं मिला. उन्होंने कहा कि एक बार उनका उनसे मिलना हुआ तो वह कहने लगी थी कि कभी सोचा भी नहीं पुरुस्कार के बारे में. मेरे पाठकों का मेरे प्रति प्यार ही सबसे बड़ा सम्मान है.

राजनीति में अब प्रबंधन, तिकड़म, परिवारवाद का बोलबाला: उन्होंने कहा कि देश की राजनीति में भी बहुत कुछ इसी प्रकार चल रहा है. आज से लगभग 60 वर्ष पहले जब वह राजनीति में आये तो समर्पण, योग्यता और चरित्र के कारण स्थान और सम्मान मिलता था. अब प्रबंधन, तिकड़म परिवारवाद और चादुकारिता सबसे बड़ी योग्यता हो गई है. कई जगह जीरो, हीरो हो गये हैं और हीरो, जीरो हो गये हैं.

Please share this news