जिले में कोरोना की अजीब स्थिति बुखार-खांसी नहीं फिर भी पॉजिटिव


जांजगीर-चांपा, . जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. अब तक आंकड़ा ढाई सौ के करीब पहुंचने वाला है. इसके विपरीत मरीजों में लक्षणाों को लेकर भी अजीत स्थिति बनी हुई है. यहां जिला कोविड उपचार केन्द्र में उपचारत मरीजों में कोरोना के कोई खास लक्षण ही नहीं मिल रहे हैं. ऐसे में मरीज सामान्य नजर आ रहे हैं, जबकि इनकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव है. जानकरों के अनुसार ऐसी स्थिति जहां मरीज को सुरक्षित बनाने के लिहाज से फायदेमंद है, वहीं लक्षण नजर नहीं आने से उपचार में देरी या अन्य में संक्रमण फैलने का खतरा भी बढ़ जाता है.

मंगलवार (Tuesday) तक जिले के उपचार केन्द्र व रायपुर (Raipur) (Raipur) के कोविड अस्पताल मिलाकर जिले के कुल 234 मरीज भर्ती थे. इसके अलावा हर रोज 10 से 12 मरीज डिस्चार्ज भी हो रहे हैं. सोमवार (Monday) को ही 10 मरीज निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. भर्ती मरीजों को जुकाम और बुखार नहीं है. अन्य कोई श्वांस संबंधी समस्या भी नहीं है. इसलिए कोरोना संक्रमित होने के बावजूद आम व्यक्ति की तरह नजर आ रहे हैं. जांच रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं होती तो कोई यह कह नहीं सकता कि इन्हें कोरोना हुआ है. कोविड अस्पताल इंचार्ज डॉ. अनिल जगत का कहना है कि जिले में जितने भी मरीज हंै, किसी में भी कोई कोरोना लक्षण नहीं मिले हंै. रैंडम जांच करने पर पॉजिटिव मरीज सामने आ रहे हैं. अगर जांच भी नहीं होती तो पता भी नहीं चल पाता.

Please share this news