आपको अवसादग्रस्त तो नहीं कर रहा ऑफिस के काम का दबाव


लंदन . ऑफिस के काम का दबाव कई तरह की परेशानियां पैदा करता है. प्रोफेशनल कामों की वजह से होने वाला तनाव और अवसाद दो अलग-अलग समस्याएं हैं, लेकिन इतना तय है कि ऑफिस के काम का दबाव किसी न किसी रूप में हमारे मानसिक स्वास्थ्य पर असर डालता है. हमें इसके प्रति सावधान होना चाहिए. अधिकांश लोग अपने दिन का ज्यादातर समय ऑफिस के कामकाज में बिताते हैं. इससे उनके मेंटल हेल्थ पर गहरा असर पड़ता है. अगर आपको लगता है कि आप अपने ऑफिस के काम से बहुत ज्यादा परेशान होने लगे हैं या फिर आपको कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है तो यह चिंता का विषय है और आपको इसे दूर करने के उपायों पर गौर करना चाहिए. दरअसल, वर्कप्लेस स्ट्रेस आजकल एक गंभीर बीमारी का रूप ले रही है. ऐसे में आपको कुछ संकेतों के बारे में जरूर जान लेना चाहिए, जिससे आप यह पहचान सकते हैं कि ऑफिस के काम के चलते कहीं आप अपसाद का शिकार तो नहीं हो रहे. आइए आपको बताते हैं कि वे कौन से संकेत हैं.

  कोविड-19 की वैक्सीन को सार्वजनिक वस्तुओं के रूप में मान्यता दी जानी चाहिए: WHO

रोजमर्रा के ऑफिस के काम से थक जाना एक आम बात है लेकिन अगर सुबह उठते ही आपको ऑफिस के बारे में सोचकर परेशानी महसूस होने लगती है और आप ऑफिस में काम करने को लेकर बिल्कुल उत्साह महसूस नहीं करते तो यह अच्छा लक्षण नहीं है. अगर आप ऑफिस में अपने काम को इन्जॉय नहीं कर रहे हैं या फिर ऑफिस को लेकर मन में कोई उत्साह का अभाव है, तो इसका मतलब है कि आप वर्कप्लेस स्ट्रेस में आ गए हैं. अगर आपको ऑफिस में ईमेल, मैसेज या व्हाट्सएप पर लगातार जवाब देने की जरूरत है और इसमें आपको परेशानी हो रही है, तो यह भी वर्कप्लेस स्ट्रेस का एक लक्षण है. अगर आपको ऐसा कोई भी काम करने में थकान महसूस हो रही है तो इसका साफ मतलब है कि आप स्ट्रेस में हैं. कई बार कंपनी चाहती है कि ऑफिस में मौजूद न होने पर भी आप घर से मैसेज या मेल का जवाबz दें, लेकिन अगर आपको इसमें तकलीफ हो रही है तो आपको स्ट्रेस महसूस हो सकता है.

  विधानसभा चुनाव डिजिटल तरीके से करने की तैयारी?

अगर ज्यादा काम होने की वजह से आप अच्छा फील नहीं कर रहे हैं या ऑफिस का माहौल आपको सूट नहीं कर रहा तो भी आप बहुत परेशान हो सकते हैं. अगर आप जल्द से जल्द अपनी नौकरी छोड़ देना चाहते हैं या फिर आपको लगता है कि आप अपने काम को बेहतर तरीके से नहीं कर पा रहे हैं, तो आपको इन बातों को लेकर तनाव हो सकता है. कई लोग तो यह भी सोचने लगते हैं कि उन्हें कभी भी ऑफिस से निकाला जा सकता है. इससे भी काम की उत्पादकता पर बुरा असर पड़ता है. वहीं अगर आप काम की वजह से नेगेटिव होते जा रहे हैं या ऑफिस के काम को लेकर आपके मन में शिकायत रहती है तो इससे आपकी मेंटल हेल्थ प्रभावित हो सकती है. अगर आप पर दिनभर काम का प्रेशर रहता है और इस वजह से आपके लिए ब्रेक ले पाना मुश्किल है तो भी आपको सतर्क हो जाने की जरूरत है. काम के दौरान छोटे-छोटे ब्रेक लेना बहुत जरूरी होता है, ताकि दिमाग फ्रेश रहे. इससे काम की प्रोडक्टिविटी भी बनी रहती है.

Please share this news