अब तक 21 लाख प्रवासी श्रमिक वापस लौटे यूपी


लखनऊ (Lucknow) . उप्र में अब तक 1550 श्रमिक ट्रेने आ चुकी है और इनके माध्यम से 21 लाख से अधिक प्रवासी श्रमिक कामगार प्रदेश में आ चुके है. ट्रेनो के आने का यह सिलसिला आगे भी जारी रहेगा. अपर मुख्य सचिव गृह और सूचना शनिवार (Saturday) को यहां बताया कि उप्र में अब तक 1550 ट्रेने प्रवासी श्रमिको कामगारों को लेकर प्रदेश में आ चुकी है. इनमें 21 लाख से अधिक श्रमिक आ चुके है, आज रात तक 28 ट्रेने प्रदेश में और आ जायेंगी. उन्होंने बताया कि सर्वाधिक 257 ट्रेने गोरखपुर में अब तक आयी है जिसमें तीन लाख 31 हजार श्रमिक कामगार आ चुके है.

  ठीक हुए लोगों की संख्या 5 लाख से अधिक, सक्रिय केसों से 2.31 लाख के अंतर से आगे

इसी प्रकार लखनऊ (Lucknow) में 109, जौनपुर में 125, वाराणसी में 111, देवरिया में 99 ट्रेने आ चुकी है. उन्होंने बताया कि सबसे अधिक 520 ट्रेने गुजरात से, उसके बाद 398 ट्रेने महाराष्ट्र (Maharashtra) से तथा 233 ट्रेने पंजाब (Punjab) से आ चुकी है. प्रदेश के सभी राज्यों से श्रमिको कामगारों को लेकर प्रदेश में विशेष ट्रेने आ रही है और यह सिलसिला लगातार जारी है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिये है कि प्रदेश से विभिन्न राज्यों को जाने वाले कामगारों, श्रमिकों के लिए भी भोजन-पानी की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए. प्रदेश आने वाले कामगारों, श्रमिकों को क्वारंटीन सेन्टर ले जाया जाए. वहां मेडिकल स्क्रीनिंग में स्वस्थ पाए गए कामगारों, श्रमिकों को राशन किट उपलब्ध कराते हुए होम क्वारंटीन के लिए घर भेजा जाए तथा अस्वस्थ लोगों के उपचार की व्यवस्था की जाए. होम क्वारंटीन के दौरान कामगारों, श्रमिकों को एक हजार रुपए का भरण-पोषण भत्ता प्रदान किया जाए.

Please share this news