छंटनी की आशंका के चलते ट्रंप से एच-1बी वीजा कार्यक्रम रोकने की अपील


वाशिंगटन . अमेरिकी तकनीकी श्रमिकों का प्रतिनिधित्व करने वाली एक संस्था ने कोरोना महामारी (Epidemic) के कारण बड़े पैमाने पर छंटनी के बीच अपने हितों की रक्षा के लिए राष्ट्रपति ट्रंप से इस साल एच-1बी वीजा कार्यक्रम को बंद करने का आग्रह किया है. गौरतलब है कि इस वीजा की भारतीय आईटी पेशेवरों के बीच सबसे अधिक मांग है.

  मंदिर में मिला पुजारी और उसके बेटे का शव, खुदकुशी की आशंका

एच-1बी वीजा एक गैर-प्रवासी वीजा है, जो अमेरिकी कंपनियों को सैद्धांतिक या तकनीकी विशेषज्ञता रखने वाले विदेशी कर्मचारियों को विशेष व्यवसायों में नौकरी देने की अनुमति देता है. दरअसल अमेरिकी कंपनियां भारत और चीन से हर साल हजारों कर्मचारियों को नियुक्त करने के लिए इस वीजा कार्यक्रम पर निर्भर हैं.संस्था ने कहा, राष्ट्रपति ट्रंप को एक पत्र लिखकर कहा है कि कोरोना (Corona virus) से आर्थिक संकट के मद्देनजर इस साल एच-1बी और एच-2बी वीजा वीजा कार्यक्रम को निलंबित कर दिया जाए.”

Please share this news