Wednesday , 28 October 2020

उत्तर प्रदेश सरकार के नीतियों के खिलाफ सड़क पर उतरे सपाई , हल्ला बोला

कुशीनगर . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) मे बेरोजगारी, बढती महंगाई व किसानो के मुद्दे को लेकर समाजवादी पार्टी अपने कार्यकर्ताओं के साथ सोमवार (Monday) को जनपद के अलग-अलग तहसीलो में सड़क पर उतर गयी और सरकार (Government) के खिलाफ हल्ला बोला. कुशीनगर के सपाईयो ने जमकर प्रर्दशन किया और राज्यपाल को संबोधित उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौपा.

कुशीनगर में निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार नवनियुक्त जिलाध्यक्ष मनोज यादव के नेतृत्व मे पडरौना विधानसभा सभा के कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालय स्थित कलेक्ट्रेट पहुंचकर घेराव किया और योगी सरकार (Government) के नीतियों के खिलाफ राज्यपाल को संबोधित अपर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौपा. इस दौरान प्रदर्शन करते हुए सपाइयों ने उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार (Government) के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए कहा कि केन्द्र और प्रदेश की भाजपा सरकार (Government) युवाओं के साथ किए गये वादो को पूरा करने मे असफल साबित हुई है. बेरोजगारों के रोजगार देने, अपराध और मंहगाई रोकने के बजाय यह सरकार (Government) जबरिया किसान बिल पास कर किसानों पर अत्याचार कर रही.

इसी क्रम में सपा मुखिया व पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) अखिलेश यादव के आवाहन पर प्रदेश सरकार (Government) के खिलाफ हल्ला बोल के क्रम मे जिले के हाटा विधानसभा मे सपा कार्यकर्ताओं ने पूर्व राज्य मंत्री राधेश्याम सिंह के नेतृत्व मे मे हाटा तहसील परिसर मे प्रर्दशन कर राज्यपाल को संबोधित दस सूत्रीय मांगों का ज्ञापन एसडीएम प्रमोद तिवारी को सौपा. इस दौरान मौजूद कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार (Government) अपनी नाकामियों को छुपा कर युवाओं को रोजगार छीन रही है. भाजपा ने जनता से जो भी वादा किया था एक भी वादा पूरा नहीं किया. उन्होंने कहा कि योगी अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए जाति धर्म मजहब की राजनीति कर रहे हैं. जनपद सहित पूरे प्रदेश में हत्या (Murder) , लूट, बलात्कार जैसी घटनाएं हो रही है. इसको लेकर जनमानस में भय व्याप्त है. इस दौरान रणविजय सिंह उर्फ मोहन बाबू, राजन तिवारी, सुरेंद्र यादव, राजनेति कश्यप, टीपू भाई, लक्ष्मी सिंह, मार्कण्डेय मधेशिया, संदीप राव, आनन्द यादव अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे.

वहीं सरकार (Government) के जनविरोधी नीतियों के खिलाफ सपा कार्यकर्ताओं ने सरकार (Government) विरोधी नारे लगाते हुए पूर्व विधायक नंदकिशोर मिश्र के अगुवाई मे तहसील मुख्यालय पहुँचे. लेकिन पहले से सीओ के अगुवाई में मुस्तैद पुलिस (Police) बल ने उन्हें तहसील गेट पर ही रोक लिया. फिर वार्ता के बाद सपाइयों ने राज्यपाल के नाम सम्बोधित पत्रक उपजिलाधिकारी तमकुहीराज को ज्ञापन सौंपा.

पत्रक में गन्ना किसानों के बकाये को ब्याज सहित भुगतान, फर्जी पुलिस (Police) इनकाउंटर, बिजली दरों में बृद्धि, लॉक डाउन के दौरान का छात्रों का शुल्क माफ करने, अपराध की रोकथाम, वर्ग ख व ग में कर्मचारियों के संविदा भर्ती प्रक्रिया पर रोक लगाने, बदले के भावना से सपा नेताओं के उत्पीड़न को तत्काल रोकने, बेरोजगार युवकों को भत्ता देने, सहित क्षेत्र के प्रमुख सड़क, नाला, नदी पर पुल बनावने के साथ ही सरकारी अस्पतालों में चिकित्सकों की नियुक्ति करने जैसी मांगे प्रमुख रही.इस दौरान पूर्व जिलाध्यक्ष इलियास अंसारी, पूर्व विधायक कासिम अली, मधुर श्याम राय, उदयनारायण गुप्ता, विजय यादव आदि मौजूद रहे.

इसी क्रम में इस कसया, खड्डा और कप्तानगंज तहसील का किया घेराव सपाइयो ने किया.जिसमें कसया मे पूर्व मंत्री ब्रम्हा शंकर त्रिपाठी, खड्डा मे नथुनी कुशवाहा व कप्तानगंज मे पूर्णमासी देहाती के नेतृत्व मे सपा कार्यकर्ताओं ने तहसील मुख्यालय का घेराव कर प्रर्दशन किया. इस दौरान प्रदेश सरकार (Government) के खिलाफ नारे-बाजी की विभिन्न मांगो को लेकर उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौपा.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *