Thursday , 24 September 2020

Ram Mandir Bhumi Poojan: भूमिपूजन कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेने वाले परासरण और प्रयागराज के वासुदेवानंद महाराज


अयोध्या . करीब 500 साल के लंबे इंतजार के बाद 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों भूमि पूजन और राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण के कार्य का शुभारंभ होने जा रहा है. इस बीच सोमवार (Monday) को खबर आई हैं कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के दो सदस्य भी भूमिपूजन कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेने वाले है. ट्रस्ट के सदस्य के परासरण और प्रयागराज (Prayagraj)के वासुदेवानंद महाराज कार्यक्रम में नहीं आएंगे. प्रयागराज (Prayagraj)के वासुदेवानंद महाराज, जो कि चौमासा नक्षत्र की वजह से अपनी गद्दी नहीं छोड़ सकते है.वहां कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़ने वाले है. सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) में राम मंदिर (Ram Temple) के पैरोकार रहे के परासरण इस समय चेन्नई में हैं और 92 वर्ष की आयु के कारण भूमिपूजन कार्यक्रम में नहीं शामिल होने वाले है.

बता दें कि राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण के लिए भूमिपूजन के कार्यक्रम के लिए करीब 300 लोगों को न्यौता भेजा गया हैं. इसमें बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी का भी नाम शामिल है. हालांकि, कई आमंत्रित लोग कोरोना की वजह से वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से इस ऐतिहासिक पल के साक्षी बनने वाले है. अयोध्या में होने वाले भूमिपूजन कार्यक्रम में शामिल होने वाले सभी आमंत्रित लोगों को 4 अगस्त तक पहुंचना होगा, क्योंकि सुरक्षा की दृष्टि से अयोध्या की सभी सीमाएं मंगलवार (Tuesday) शाम के बाद से बंद कर दी जाएंगी. उसके बाद किसी को भी अयोध्या में प्रवेश नहीं मिलेगा. 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या आगमन और राम मंदिर (Ram Temple) भूमि पूजन कार्यक्रम को देखकर पूरे जिले को अभेद्य किले में तब्दील कर दिया गया है. चप्पे-चप्पे पर निगरानी की जा रही है.

Please share this news