Wednesday , 28 October 2020

Punjab and Sind Bank ने दो खातों में 112 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी होने की जानकारी दी


नई दिल्ली (New Delhi) . सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब (Punjab) एंड सिंध बैंक (Bank) ने उसके दो फंसे कर्ज के खातों में 112.42 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी होने की जानकारी दी है. ये खाते महा एससोसियेटिड होटल्स और एडयार जिंक के हैं. बेंक ने नियामकीय सूचना में कहा है कि उसने धोखाधड़ी के बारे में रिजर्व बैंक (Bank) को सूचित कर दिया है और वह इस बारे में केन्द्रीय जांच ब्यूरो के पास शिकायत दर्ज कराने की प्रक्रिया में है.

बैंक (Bank) ने बताया कि महा एसोसियेटिड होटल्स प्रा. लि. से संबंधित ऋण खाते में 71.18 करोड़ रुपये का बकाया है. उसने कहा कि एनपीए खाते को धोखाधड़ी घोषित किये जाने की सूचना भारतीय रिजर्व बैंक (Bank) (आरबीआई (Reserve Bank of India) ) को दी जा चुकी है. वर्तमान में महा एसोसियटिड होटल्स का मामला एनसीएलटी में लंबित है. बैंक (Bank) ने बताया कि सेबी विनियमों और बैंक (Bank) की नीति के लागू प्रावधानों के अनुसार,यह सूचित किया जाता है कि 44.40 करोड़ रुपये के प्रावधान वाले 71.18 करोड़ रुपये के बकाया एनपीए खाता ‘महा एसोसिएटेड होटल्स प्राइवेट लिमिटेड’ को धोखाधड़ी घोषित किया गया है और नियामकीय आवश्यकता के अनुसार आरबीआई (Reserve Bank of India) को इसकी सूचना दी गयी है.”

एक अन्य सूचना में बैंक (Bank) ने कहा कि एडयार जिंक का एनपीए खाता 41.24 करोड़ रुपये के बकाये के साथ धोखाधड़ी वाला खाता घोषित कर दिया गया है और इसकी जानकारी आरबीआई (Reserve Bank of India) को दी दी गई है. इस साल अप्रैल में बैंक (Bank) ने गोल्डन जुबली होटल्स के 86 करोड़ रुपये अधिक के बकाये वाले गैर-निष्पादित खाते को भी धोखाधड़ी घोषित किया था.

Please share this news