सीमावर्ती क्षेत्र से पुलिस ने पकड़ी 55 पेटी अवैध शराब


नौगांव . पिछले काफी दिनों से नगर में शराब का अवैध कारोबार किया जा रहा था लेकिन स्थानीय पुलिस (Police) इसमें कार्यवाही नहीं कर रही थी. एसडीएम ने टीआई को अवैध शराब बिक्री के बारे में सूचना दी तब कहीं जाकर कार्यवाही की गई. पुलिस (Police) ने उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) की सीमा के पास से 55 पेटी अवैध शराब सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस (Police) ने तीन लोगों के खिलाफ आबकारी अधिनियम के तहत कार्यवाही की है. पुलिस (Police) की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे हैं. इस मामले में टीआई का कहना है कि बयानों के आधार पर ठेकेदार के खिलाफ भी मामला दर्ज किया जा रहा है.

  अनंतनाग में सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में 2 आतंकी ढेर

जानकारी के मुताबिक उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) के सीमवर्ती गांव धवर्रा में वीरेन्द्र सिंह यादव के नाम से देशी शराब का ठेका है. इसी ठेके से शराब लेकर अवैध ढंग से बेची जाती थी. एसडीएम बीबी गंगेले को इस संबंध में सूचना मिली तो उन्होंने टीआई बैजनाथ शर्मा को खबर की. एसडीएम के निर्देश पर तहसीलदार बीपी सिंह व टीआई बीती रात 10 बजे बताए गए स्थान पर पहुंचे जहां से शराब बेच रहे रोहित पुत्र रामसिंह यादव और सुख सिंह यादव के कब्जे से 55 पेटी अवैध शराब जप्त की गई. पूछताछ में रोहित ने बताया कि उसके साथ शिव सिंह भी शराब बेचने में शामिल था लेकिन वह पुलिस (Police) कार्यवाही की भनक लगने के कारण कहीं चला गया है.

  दिल्ली के कंटेनमेंट जोन में बिना लक्षण वालों की भी हो रही जांच

हालांकि पुलिस (Police) ने शिव सिंह को भी गिरफ्तार कर लिया. जप्त की गई शराब की कीमत करीब पौने 2 लाख रुपए आंकी गई है.इस पूरे मामले में दिलचस्प बात यह है कि दिन में गरीबों को खाना बांटने वाला तथाकथित समाजसेवी रात में शराब की तस्करी करता था. रोहित ने पूछताछ में पुलिस (Police) को बताया कि मनोज साहू और सनी साहू इस शराब को बिकवाते थे. मनोज साहू द्वारा दिन में गरीबों को भोजन कराया जाता रहा. मामला आईजी तक पहुंचने के कारण टीआई बीएन शर्मा को मनोज साहू के ऊपर भी मामला दर्ज करना पड़ा.

Please share this news