नई शिक्षा नीति से छात्रों का सर्वांगीण विकास होगा-पोखरियाल


जयपुर (jaipur) . केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान जोधपुर के इंक्यूबेशन व इनोवेशन केंद्र तथा खेल परिसर का वर्चुअल उद्घाटन किया. इस अवसर पर केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत एवं केन्द्रीय शिक्षा राज्य मंत्री संजय धोत्रे भी उपस्थिति रहे.

इंक्यूबेशन व इनोवेशन केंद्र तथा खेल परिसर के वर्चुअल उद्घाटन अवसर पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि संस्थान कि सुविधाओं में महत्वपूर्ण कड़ी जुड़ी है और इससे बहुआयामी विकास होगा. इससे शिक्षा अनुसंधान व प्रगति की दिशा में कदम बढ़ाया है. इससे प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान में आगे बढ़ रहे हैं. वर्तमान में खेल परिसर में क्रिकेट फुटबाल, हॉकी, बास्केटबाल, टेनिस, वॉलीबोल, कबड्डी, योगा की सुविधाएं राष्ट्रीय व अंतर राष्ट्रीय स्तर पर तैयार किया है यह छात्रों के सर्वांगीण विकास में महत्वपूर्ण कदम है. प्रधानमंत्री ने भी पूरे विश्व में मानव कल्याण की बात कही है.

आज विश्व के कई देश इसे मान रहे हैं. उन्होंने कहा कि स्वच्छ सशक्त आत्मनिर्भर भारत कैसे बने इसके लिए आईआईटी ने अपना गौरव बनाया है. इससे प्रधानमंत्री के मेक इन इंडिया स्टार्ट अप व अन्य क्षेत्रों में भी छात्रों को आत्मनिर्भर बनने का अवसर मिलेगा. इससे छात्रों का सर्वांगीण विकास होगा. उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति व्यापक परिवर्तनों के साथ आई है इस नीति से शिक्षा प्राप्त करने पर आईआईटी तक आने पर छात्र (student) का समग्र विकास हो सकेगा. नई शिक्षा नीति में महत्वपूर्ण सुधार किए गए जिससे छात्र (student) का मूल्यांकन छात्र (student) सहित अभिभावक शिक्षक व सहपाठी भी कर सकेंगे जिससे उसका सर्वांगीण विकास होगा.

आर्टिफि़शियल इंटेलिजेंस से देश को दुनिया में आगे बढऩे का महत्वपूर्ण अवसर मिलेगा. उन्होंने कहा कि मातृभाषा से महत्वपूर्ण अभिव्यक्ति हो सकती है उतनी किसी भी रूप में नहीं हो सकती है. आज जिन देशों ने भी प्रगति की है वे अपनी भाषा में शिक्षा देते हैं और दुनिया के शीर्ष देश अपनी भाषा में ही शिक्षा दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति में छात्रों को बेहतर अवसर मिलेंगे और उच्च शिक्षा में शोध के संस्थान आगे ले जा सकते हैं.इस अवसर पर केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि संस्थान के इन केन्द्रों के खुलने से छात्रों को नई गति मिलेगी.

उन्होंने कहा कि आईआईटी में खेल परिसरों से छात्रों को फिट इंडिया मूवमेंट का सपना पूर्ण करने का मौका मिलेगा. उन्होंने कहा कि भारत ने सॉफ्टवेयर के क्षेत्र में दुनिया में अपना वर्चस्व स्थान बनाया है और आर्टिफि़शियल इंटेलिजेंस के पाठ्यक्रमों से भी छात्रों को विशेष सुविधा मिलेगी. केन्द्रीय शिक्षा राज्य मंत्री संजय धोत्रे ने कहा कि मुझे इस बात की भी खुशी हैं कि नवनिर्मित इंक्युबेशन एंव इनोवेशन केन्द्र में लगभग आठ उपक्रम पंजीकृत हो चुके हैं. जिनको भारत सरकार (Government) के डैडम् मंत्रालय एंव अन्य संगठनों से वित्तीय सहायता प्राप्त हुई हैं यह केन्द्र स्वास्थ्य शिक्षा पर्यावरण कृषि एंव आजीविका जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में प्रौद्योगिकी के माध्यम से सुधार लाने के लिए भी कार्य करेगा.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *