Wednesday , 28 October 2020

एयर इंडिया के पायलटों ने कहा, ‘वेतन कटौती का विपरीत असर होगा’


नई दिल्ली (New Delhi) . एयर इंडिया के वरिष्‍ठतम पायलटों की ओर से नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि पायलटों की सैलरी में भारी कटौती का इन पायलटों के परिवार के सदस्‍यों पर विपरीत प्रभाव पड़ा है. सीनियर पायलटों ने चेतावनी भरे लहजे में कहा है, ”पायलटों के वेतन को 75% तक कम करने का सरकार (Government) का निर्णय “भेदभावपूर्ण और मनमाने तरीके से लिया गया है और इसका घातक प्रभाव हो सकता है.”

ज्ञात रहे कि एयर इंडिया पर लगभग 70,000 करोड़ रुपये का कर्ज है. सरकार (Government) की ओर से इस एयरलाइन को बेचने की कोशिश कर की जा रही है लेकिन अभी तक कोई अच्‍छी डील सामने नहीं आई है. कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) के दौरान विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए उड़ान भरने वाले एयर इंडिया के करीब 60 पायलटों को कोविड-19 (Covid-19) पॉजिटिव पाया गया है. पायलटों की ओर से लिखे गए पत्र में कहा गया है कि वंदे भारत मिशन के तहत विदेश में फंसे भारतीय को वापस लाने की पायलटों को भारी कीमत चुकानी पड़ी है. आज की तारीख तक 60 से अधिक पायलट कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं.

ज्ञात रहे कि एयर इंडिया के पायलटों ने सबसे पहले चीन के वुहान में फंसे भारतीयों को बचाने के लिए उड़ान भरी थी और अब वे दुनियाभर के देशों में फंसे हुए भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए वंदे भारत योजना के तहत उड़ानों का संचालन कर रहे है. अब तक दुनियाभर से 7,73,000 से अधिक भारतीय वतन लौटे हैं. एयर इंडिया ने कहा है कि कोरोनोवायरस महामारी (Epidemic) के कारण इसकी वित्तीय स्थिति खस्‍ताहाल है.

Please share this news