पाक ने कुलभूषण मामले में कोई भी प्रासंगिक दस्तावेज सौंपने से इनकार कर दिया : भारत


नई दिल्ली (New Delhi) . भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा, पाकिस्तान ने भारत को कुलभूषण जाधव मामले में प्राथमिकी, सबूत, अदालत के आदेश सहित कोई भी प्रासंगिक दस्तावेज सौंपने से इनकार कर दिया. मंत्रालय के अनुसार यह स्पष्ट है कि कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान आईसीजे के फैसले के पालन का भ्रम पैदा करने की कोशिश कर रहा है. मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि कुलभूषण जाधव को बचाने और उसकी सुरक्षित भारत वापसी सुनिश्चित करने के लिए भारत हरसंभव कोशिश करेगा. पाकिस्‍तानी जेल में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले में भारत और पाकिस्‍तान आमने-सामने हैं.

  भारत को धर्मनिरपेक्षता जैसी पश्चिमी अवधारणाओं की आवश्यकता नहीं, गोविंदाचार्य बोले, राम मंदिर भूमिपूजन 500 वर्षों के संघर्ष का परिणाम है

ज्ञात रहे कि जासूसी के आरोप में पाकिस्‍तान ने जाधव को मौत की सजा सुनाई है.पाकिस्तान का दावा है कि जाधव ने उसके मामले की समीक्षा करने से इनकार कर दिया है और दया की अपील करना चाहता है. इस मामले में तीखी प्रतिक्रिया देते हुए मंत्रालय ने कहा, पाकिस्तान ने जाधव पर अंतरराष्ट्रीय न्याय कानून के फैसले के क्रियान्वयन के अपने अधिकार को त्यागने का दबाव बनाया है. भारतीय विदेश मंत्रालय ने यह भी कहा कि जाधव ने पुनर्विचार याचिका दायर करने से इनकार किया, यह दावा करके पाकिस्‍तान अपने ढोंग को जारी रख रहा है.

  रूस में बड़े पैमाने पर कोरोना टीकाकरण की चल रही तैयारी, वैक्सीन भी जल्द लांच करेगा

विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तानी मीडिया (Media) में आई खबरों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जाधव को फर्जी मुकदमे के जरिये फांसी की सजा सुनाई गई. यही नहीं, उन्हें अपने मामले में पुनर्विचार याचिका दायर करने से इनकार करने के लिये मजबूर किया गया.भारत ने चर्चा के लिए जाधव तक निर्बाध पहुंच की मांग की है.मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्‍तान हमारे बार-बार अनुरोध के बावजूद, भारत को जाधव तक स्वतंत्र और अबाधित पहुंच से वंचित रखे हुए है.

Please share this news