लॉकडाउन में 450 ब्रैंड्स की सिगरेट मिल रही ऑनलाइन, 2 गिरफ्तार


नई दिल्ली (New Delhi) . देश भर में लॉकडाउन (Lockdown) में आप राशन, दवा जैसी जरूरी चीजें ऑनलाइन मंगवा सकते हैं, लेकिन कुछ लोगों ने शराब-सिगरेट जैसी चीजों की भी ऑनलाइन खरीद फरोख्त शुरू कर दी. बेंगलुरु (Bengaluru) में क्राइम ब्रान्च ने 2 लोगों को गिरफ्तार किया, जो लॉकडाउन (Lockdown) में ऑनलाइन सिगरेट बेच रहे थे. इनके कब्जे से 30 हजार रु के सिगरेट भी बरामद किए हैं. अख्तर मिर्जा और तबुद्दीन मोहिद्दीन के खिलाफ केस दर्ज किया है.

  सुशांत के निधन के बाद बढ़े इंस्टाग्राम पर लाखों फॉलोअर्स

इन्होंने लॉकडाउन (Lockdown) में सिगरेट की ऑनलाइन बिक्री के लिए ‘मूनलाइट डिलीवरी’ नाम से अवैध तरीके से कारोबार शुरू कर लिया. मोबाइल नंबर के जरिए ग्राहकों को रजिस्टर करवाते थे और फिर उन्हें सिगरेट पहुंचाते थे. इनके पास 450 अलग-अलग ब्रैंड्स के सिगरेट थे. देशभर में कोरोना (Corona virus) को रोकने के लिए 3 मई तक लॉकडाउन (Lockdown) लागू किया है. 24 मार्च को लॉकडाउन (Lockdown) की शुरुआत से ही गुटखा, सिगरेट और शराब समेत सभी तरह के नशीलों पदार्थों की बिक्री पर रोक लगा दी गई. कई जगह गली मुहल्लों में गुटखा सिगरेट चोरी छिपे बिक रहा है, लेकिन लोगों को 2 से 3 गुनी कीमत चुकानी पड़ रही है.

  कोरोना संक्रमण पर आमजन करे हैल्थ प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन: सीएम गहलोत

दरअसल, गुटखा और सिगरेट भी कोरोना (Corona virus) को फैलाने में सहायक हो सकते हैं. गुटखा खाकर अक्सर लोग यहां-वहां थूकते हैं. यदि कोई संक्रमित व्यक्ति गुटखा खाकर थूकेगा तो वायरस फैलने की संभावना रहेगी. इसके अलावा लोग सिगरेट भी अक्सर दोस्तों के साथ शेयर करते हैं. ऐसे में यह संक्रमण भी एक से दूसरे व्यक्ति तक पहुंचा सकता है.

Please share this news