तबलीगी जमात प्रमुख मौलाना साद समेत कई लोगों पर गैर-इरादतन हत्या का केस


नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली समेत पूरे भारत में कोरोना संकट को बढ़ाने वाले तबलीगी जमात पर कार्रवाई जारी है. अब दिल्ली पुलिस (Police) ने जमात के अमीर मौलाना मोहम्मद साद समेत कई लोगों पर गैर-इरादतन हत्या (Murder) का केस दर्ज किया है. इसके साथ ही पुलिस (Police) ने वीजा नियमों का उल्लंघन करने वाले 1900 जमातियों को लुकआउट नोटिस जारी किया गया है. दिल्ली पुलिस (Police) की ओर से मौलाना साद समेत 17 लोगों को जांच में शामिल होने के लिए नोटिस जारी किया गया है.

  राष्ट्र को संबोधन में चीन गतिरोध पर पीएम मोदी ने नहीं दिखाई मजबूती

हालांकि, इसमें से 11 लोग खुद को क्वारनटीन बताकर पुलिस (Police) के सामने आने से बच रहे हैं. मौलाना साद ने भी खुद को क्वारनटीन बताया था. माना जा रहा है कि उसका आइसोलेशन पीरियड खत्म हो गया है और पुलिस (Police) कभी उसे गिरफ्तार कर सकती है. निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज का कोरोना कनेक्शन सामने आने के बाद पुलिस (Police) ने मौलाना साद समेत 7 लोगों पर मामला दर्ज किया था.

  बंगाल ने दिल्ली और मुंबई समेत 8 शहरों से उड़ानों पर रोक के लिए पत्र लिखा

महामारी (Epidemic) एक्‍ट और आईपीसी की कई धाराओं में केस दर्ज किया गया था. जांच के बाद अब पुलिस (Police) ने इस मुकदमें में धारा 304 (गैर इरादतन) हत्‍या भी जोड़ दी है. इसके अलावा जमात के मरकज में आए 1900 विदेशियों के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर भी जारी किया गया है. पुलिस (Police) का कहना है कि इन लोगों ने वीजा नियमों का उल्लंघन किया था और कार्यक्रम में शामिल हुए थे. पुलिस (Police) ने मरकज से 2300 से अधिक लोगों को बाहर निकाला था, जिनमें 500 से अधिक विदेशी थे.

Please share this news