स्पेन के वृद्धाश्रमों का बुरा हाल, देखरेख करने वाले लोग नहीं, बुजुर्गों को दे दी जाती है बेहोशी की दवा


मैड्रिड . स्पेन में कोरोना (Corona virus) से एक लाख 20 हज़ार लोग संक्रमित हैं, जबकि करीब 12 हज़ार लोगों की मौत हो गई है. इस बीच यहां के वृद्धाश्रम के हालात बेहद खराब हो गए हैं. वृद्धाश्रम में अब देखरेख करने वाले लोग नहीं हैं. यहां रहने वाले बुजुर्गों की देखभाल करने वाले लोग कोरोना के डर से अपने घरों में लॉकडाउन (Lockdown) हैं.

स्पेन के लगभग सभी अस्पतालों में कोरोना (Corona virus) के मरीजों का इलाज चल रहा है, आम बीमारियों के यहां इलाज फिलहाल बंद हो गया है. केयर होम से किसी को कोई जवाब नहीं मिल रहा है. स्थानीय प्रशासन का कहना है कि करीब दो तिहाई लोगों को छुट्टी दे दी गई है. एक स्थानीय निवासी मारिया होज़े अलवारेज़ का कहना है आज कल जब वृद्धाश्रम में लोग बीमार पड़ते हैं तो इन्हें देखने वाला कोई नहीं होता. जब लोग ज्यादा बीमार पड़ जाते हैं और बचेखुचे कर्मचारी देखते हैं कि इनका इलाज नहीं हो पाएगा तो वे उन्हें बेहोशी की दवा देकर छोड़ देते हैं. वे देखते हैं कि ये कितनी देर तक जिंदा रह पाएंगे. यह अफसोस की बात है.

  गरीबी,बेबसी व हताशा के बीच आत्मनिर्भरता....?

मैड्रिड के एक नर्सिंग होम में 3 हजार लोगों की मौत हो गई है. कहा जाता है कि इसमें से करीब 2 हज़ार लोगों ने कोरोना (Corona virus) के चलते दम तोड़ा. हालांकि यह भी दावा किया जा रहा है कि इसमें से कई लोगों का टेस्ट नहीं हुआ था. अब वहां के हॉस्पिटल केयर होम के लोगों को एडमिट नहीं कर रहे हैं. सरकारी डेटा के मुताबिक केयर होम में रहने वाले 40 फीसदी लोगों की मौत अब तक हो चुकी है.

Please share this news