नीरज चोपड़ा और विकास कृष्णन ने ओलिंपिक स्थगित करने के निर्णय को सही ठहराया


नई दिल्ली (New Delhi) . टोक्यो ओलंपिक टालने के निर्णय की सराहना करते हुए भारत के स्टार भालाफेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा ने कहा कि यह इंसानियत का तकाजा है कि सबसे पहले कोविड-19 (Kovid-19) पर नियंत्रण के उपाय किए जाएं. चोपड़ा ने माह की शुरुआत में साउथ अफ्रीका में एथलेटिक्स सेंट्रल नार्थ ईस्ट मीटिंग लीग के जरिए ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ किया था.

  कोटा से विद्यार्थियों को उनके घर पहुंचाने के लिए राजस्थान रोडवेज के बिल का यूपी सरकार ने किया भुगतान

वह कोहनी की चोट के बाद सर्किट पर वापसी कर रहे हैं. राष्ट्रमंडल और एशियाई खेल चैंपियन ने एक बयान में कहा, इस हालात में खिलाड़ियों के लिए यह अच्छा फैसला है. इस समय ओलिंपिक जश्न मनाने के हालात नहीं हैं. इसे सकारात्मक तरीके से लेते हुए कहना होगा कि हमें तैयारी के लिए एक साल और मिल गया. दो बार के ओलंपियन मुक्केबाज विकास कृष्णन ने कहा मानवता सबसे ऊपर है. मुझे खुशी है कि कोरोना (Corona virus) संक्रमण को ध्यान में रखकर यह फैसला लिया गया. राष्ट्रमंडल और एशियाई खेल चैम्पियन विकास ने कहा कि इससे हमारी तैयारी पर असर पड़ेगा लेकिन मैं ओलिंपिक स्वर्ण जीतने के लिए बेहतर तैयारी कर सकूंगा. इससे पहले कल एमसी मेरीकोम और साइना नेहवाल जैसे शीर्ष भारतीय खिलाड़ियों ने भी आईओसी के फैसले का स्वागत किया था.

Please share this news