म्यूचुअल फंड, एनबीएफसी की तरलता के लिए विशेष उपाय जरूरी : अरुंधति


बेंगलुरू (Bengaluru) . भारतीय स्टेट बैंक (Bank) की पूर्व चेयरमैन अरुंधति भट्टाचार्य ने कोरोना संक्रमण के चलते 21 दिन की राष्ट्रव्यापी बंदी के असर से म्यूचुअल फंडों और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (बचाने) के लिए विशेष उपाय करने की वकालत की है. उन्होंने कहा म्यूचुअल फंडों तथा एनबीएफसी के लिये तरलता बढ़ाने के उपाय किए जाने चाहिए.

  विश्व पत्रकारिता दिवस 71 सम्मानित : उदयपुर के हरीश पालीवाल पत्रकारिता दिवस पर सकारात्मक पत्रकारिता के लिए सम्मानित

उन्होंने पिछले सप्ताह रिजर्व बैंक (Bank) द्वारा की गई घोषणाओं की सराहना करते हुए कहा कि केंद्रीय बैंकों ने बैंकों के लिए तरलता सुनिश्चित करने का शानदार काम किया है. भट्टाचार्य ने कहा किसी भी तरह के संकट में सबसे पहली दिक्कत नकदी को लेकर आती है और नकदी के समाप्त होते ही समाधान के मुद्दे आने लग जाते हैं. उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक (Bank) को अभी म्यूचुअल फंडों तथा एनबीएफसी के लिए तरलता सुनिश्चित करने को लेकर उपाय करने की जरूरत है, क्योंकि ये भी वित्तीय प्रणाली का हिस्सा हैं.

Please share this news